आज का राशिफल

शनिवार को बदल सकती है इन राशि वालों की किस्मत, जानिए आपकी कौन सी, आज का राशिफल

आज का पंचाग…. दिनांक 06.06.2020… शुभ संवत 2077 शक 1942 सूर्य उत्तरायण का …अषाढ़ मास कृष्ण पक्ष प्रतिपदा तिथि … रात्रि को 10 बजकर 33 मिनट तक … दिन … शनिवार … ज्येष्ठा नक्षत्र … दोपहर को 03 बजकर 12 मिनट तक … आज चंद्रमा … वृश्चिक राशि में … आज का राहुकाल दिन को 08 बजकर 42 मिनट से 10 बजकर 22 मिनट तक होगा।

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-
मेष-मेष राशि वालें जातकों के आलस्य, ब्लडप्रेशर तथा श्वासरोग से पीड़ित हो सकते हैं। किसी विषय पर झूठ बोलने की स्थिति निर्मित होने से विश्वास में कमी होने की संभावना। अतः आलस्य तथा अन्य कष्टों से निवारण के लिए -मातृशक्ति भगवती गायत्री की आराधना करें….लाल वस्त्र…लाल पुष्प चढ़ायें…पंजीरी का प्रसाद चढ़ाकर वितरित करें…. वृषभ-वृषभ राशि वाले जातकों के वाणी में कटुता से संबंधों में खटास आ सकती है तथा कोर्ट में धन संबंधित विवाद की स्थिति आ सकती है। व्यर्थ की यात्रा तथा उससे विवाद एवं हानि की आशंका बन सकती हैं अतः शांति के लिए-कन्या को नीले रंग की चूडिया दान करें, सौभाग्यवती स्त्री को सुहाग का सामना दान करें, रोगियों को फल का दान करें।

मिथुन-मिथुन राशि वाले जातकों के ऊर्जा का स्तर बहुत अच्छा रहेगा तथा काम में हुनर तथा योग्यता दिखाई देगी किंतु मन में भ्रम की स्थिति तथा इस स्थिति का लाभ विरोधियों या अपनो द्वारा भी उठाया जाकर धोखा खा सकते हैं तथा पार्टनर से विवाद हो सकता है साथ ही वातरोग से कष्ट की भी संभावना बनती है, जिसके लिए -हल्दी, चंदन, नारियल, खट्टे फल या हाथी दांत से बनी सामग्री का दान करें, पीपल के वृक्ष की परिक्रमा करें तथा लाल धागा लपेटें, शक्कर पेड के जड़ में रखें। नीबू या खट्टे खाद्य पदार्थ कुवारी कन्या को दान करें। कर्क-कर्क राशि वालें जातक के उत्साह पूर्वक निपुणता से कार्य करेंगे किंतु मनवांछित सफलता प्राप्त ना होने के कारण आर्थिक कष्ट हो सकता है तथा सहयोगी से विवाद तथा कटु वचन बोलने के कारण वैमनस्य हो सकता है। अचानक यात्रा करने से स्वास्थ्य या गले में कष्ट होने की भी आशंका। कष्ट से शांति के लिए आप -काले वस्त्र या चमड़े से बनी सामग्री का दान करें। उड़द या तिल या सरसों का तेल दान करें। अधिनस्थ कार्य करने वाले की यथा संभव सहायता करें, किसी भी प्रकार के नशे से दूर रहें,

सिंह-सिंह राशि वाले जातक का न्यायिक विजय, सम्मान की प्राप्ति या दिया गया कर्ज वापस मिल सकता है। अधिकारियों से विवाद या वाहन से चोट भी लग सकती है। बेवजह बहस या चोट तथा हानि से बचाव के लिए -लाल पुष्प, केशर, इलायची, गुड, गेहू का दान करें, मातृशक्ति भगवती गायत्री की आराधना करें…. लाल वस्त्र…लाल पुष्प चढ़ायें… पंजीरी का प्रसाद चढ़ाकर वितरित करें…. कन्या-कन्या राशि वाले जातक की अशुभ फल की प्राप्ति हो सकती है तथा पत्नी/ पार्टनर से विवाद की स्थिति बन सकती है शांति के लिए -देवी जी में पीला वस्त्र…पीले पुष्प….लड्डू…का भोग लगायें….केला….चढ़ायें… ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें… पीली वस्तुओं का दान करें…

तुला-तुला राशि वाले जातक के क्षमता के बाहर खर्च कर सकते हैं और उसके कारण अपनो से मिथ्या बोल के कारण अपमान होने की स्थिति बन सकती है साथ ही व्यवयाय में अचानक धनहानि हो सकती है। अतः सबंधित अनिष्ट से राहत के लिए- ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें… चावल, धी, दूध, दही का दान करें साथ ही सौभाग्यवती स्त्री को सुहाग का सामान दान करें, सुगंधित वस्तुओं का दान करें। इत्र या सौंदर्य सामग्री का दान करें.. वृश्चिक-इस राशि के जातक व्यवसाय में या अध्ययन में अचानक बाधा आ सकती है किसी प्रकार के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। शत्रु तथा शस्त्र से हानि हो सकती है अतः राहु दोषों के निवारण के लिए -ऊॅ रां राहवे नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें, बहन, भतीजी या गरीब कन्या को नीले रंग की चूडिया दान करें, सौभाग्यवती स्त्री को सुहाग का सामना दान करें..

धनु-धनु राशि वाले जातक के धन प्राप्ति के योग बन रहे है किंतु व्यसन या मित्रों के द्वारा उस धन की हानि भी हो जाती है तथा विवाद में फॅस सकते है। अतः मंगल की शांति के लिए -आमजनों के आहार पानी की व्यवस्था करें….शनि मंत्र का जाप करें… मकर-मकर राशि वाले जातकों के धार्मिक कार्य में धन खर्च हो सकता है साथ ही मित्र तथा भाई-बहनों के साथ यात्रा हो सकती है। पेट से सम्बन्धित बीमारी दे सकती है … शनि से उत्पन्न कष्ट के लिए-तिल…गुड….से बने लड्डू का भोग लगायें….सभी को प्रसाद वितरित करें….

कुंभ-कुंभ राशि वालें जातकों के पार्टनर के उपर अविश्वास या मतभेद के कारण व्यवसाय में और आय में बाधा हो सकती है साथ ही कंधे एवं खानपान के कारण स्वास्थ्य में तकलीफ भी संभव। राहु कृत दोषों की शांति के लिए -आईना दान करें, तिल, तेल का दान करें.. मीन -मीन राशि वाले जातक के हानि, रोग से धन का संकट होने से पारिवारिक तथा मानसिक अशांति हो सकती है साथ ही आकस्मिक चोरी या महत्वपूर्ण वस्तु के गुम जाने से तनाव तथा माता को कष्ट हो सकता है अतः अनिष्ट की शांति के लिए -चावल, दूध, दही का दान करें…माता का दूध दही से अभिषेक करें….

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!