समाचार

भविष्यवक्ता डॉ. अनीष व्यास ज्योतिष रत्न पुरस्कार 2022 से सम्मानित

शनिवार 7 मई को श्री वेद ज्योतिष विज्ञान कला संस्कृति जनकल्याण एवं अनुसंधान संस्थान जयपुर की ओर से दो दिवसीय इंडो नेपाल एस्ट्रो सम्मिट 2022 ज्योतिष सम्मेलन आयोजित किया गया।

पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक विश्वविख्यात भविष्यवक्ता एवं कुंडली विश्ल़ेषक डॉ. अनीष व्यास को आज श्री वेदामृतम संस्थान जयपुर की ओर ज्योतिष रत्न पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया।

शनिवार 7 मई को श्री वेद ज्योतिष विज्ञान कला संस्कृति जनकल्याण एवं अनुसंधान संस्थान जयपुर की ओर से दो दिवसीय इंडो नेपाल एस्ट्रो सम्मिट 2022 ज्योतिष सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में प्रसिद्द ज्योतिषाचार्य विनय महाराज, डॉ लोकराज पौडेल नेपाल, याज्ञिक पंडित गणपति दैवज्ञ और आयोजक पंडित दिलीप के अवस्थी ने अब तक सर्वाधिक सटीक भविष्यवाणी, ज्योति आंकलन, अद्भुत ज्योतिष ज्ञान और ज्योतिष के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्यों के लिए पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक विश्वविख्यात भविष्यवक्ता एवं कुंडली विश्ल़ेषक डॉ. अनीष व्यास को ज्योतिष रत्न पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया।

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े Join Now

आयोजक दिलीप के अवस्थी ने बताया कि भविष्यवक्ता डॉ. अनीष व्यास बुध के कुंभ राशि में प्रवेश करने पर 7 मार्च को भविष्यवाणी की थी कि विमान दुर्घटना होगी और कुछ दिन पश्चात चीन में विमान दुर्घटना हुई और 132 लोगों की मृत्यु हुई। तीन महीने पहले की गई कृषि कानून वापस लेने की भविष्यवाणी भी सच साबित हुई है। डॉ. अनीष व्यास का ज्योतिष ज्ञान बहुत ही अद्भुत है और इनका ज्योतिष आंकलन एवं भविष्यवाणी हमेशा सटीक जाती है। अभी तक 219 से अधिक सटीक ज्योतिष आंकलन और भविष्यवाणी की है। भविष्यवक्ता डॉ. अनीष व्यास ने ज्योतिष पर अब तक सैकड़ों लेख लिखे हैं। ज्योतिष के लेख विभिन्न समाचार पत्रों एवं टीवी चैनल में नियमित प्रकाशित होते रहते हैं। प्रतिदिन राशिफल भी प्रकाशित होते हैं। उल्लेखनीय है कि विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डॉ. अनीष व्यास को ज्योतिष के क्षेत्र में काफी पुरस्कार मिल चुके हैं। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान का कार्यालय जयपुर जोधपुर में है।

Related Articles

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
× How can I help you?