विद्यार्थियों के लिए शुभफलदायी है बसंत पंचमी, लेकिन भूलकर भी न करें ये काम

maa saraswati ko prasan karne ke upay in hindi

माघ मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मां सरस्वती का जन्म दिवस बसंत पंचमी के रूप में मनाया जाता है. इस साल 16 फरवरी 2021 को बसंत पंचमी मनाई जाएगी. बसंत पंचमी का दिन यूं तो सभी के लिए खास होता है लेकिन विद्यार्थी वर्ग के लिए ये विशेष शुभफलदायी माना जाता है. बसंत पंचमी के दिन से ही बसंत ऋतु प्रारंभ होती है. बसंत पंचमी का दिन छात्रों के साथ ही लेखन और संगीत के क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए भी महत्व का होता है. बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की वंदना कर के व्यक्ति मां सरस्वती की कृपा प्राप्त कर सकता है. लेकिन सरस्वती मां की आराधना के समय व्यक्ति को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. पूजा के समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ये आज हम आपको बताने जा रहे हैं.

बसंत पंचमी के दिन ऐसे करें मां सरस्वती की आराधना

बसंत पंचमी के दिन सूर्योदय के साथ ही स्नान कर लें व इस दिन पीले वस्त्र धारण करें. मां सरस्वती की विधि विधान से आराधना करें. इस दिन कापी, किताब, कागज, कलम जैसी विद्या की वस्तुओं का पूजन करें. जो लोग संगीत के क्षेत्र से जुड़े हैं उन्हें अपने वाद्ययंत्रों की इस दिन पूजा करनी चाहिए. पूजा के बाद अपने माता-पिता व गुरूजनों का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लें. छोटे बच्चों के विद्याआरंभ के लिए ये दिन शुभफलदायी होता है.बसंत पंचमी के दिन जरुरतमंद लोगों को वस्त्र व भोजन का दान करना शुभ माना जाता है संभव हो तो दान जरूर करें. बसंत पंचमी के दिन किसी नए काम को शुरू करने के लिए किसी मुहूर्त को निकालने की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए यदि आप कोई नया काम शुरू करने की सोच रहें हैं तो बसंत पंचमी के दिन करें.

बसंत पंचमी के दिन भूलकर भी न करें ये काम

मां सरस्वती विद्या और वाणी की देवी हैं इसलिए बसंत पंचमी के दिन किसी को भी अपशब्द न कहें न ही किसी की निंदा करें, आम दिनों में भी किसी की बुराई और किसी को भला बुरा करने से बचें. बसंत पंचमी के दिन अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें व किसी भी तरह के वाद-विवाद के चक्कर में न पड़ें.इस दिन मांस-मदिरा का सेवन गलती से भी न करें. बसंत पंचमी के दिन प्रणय संबंध न बनाएं. बिना स्नान किए भोजन ग्रहण न करें. बसंत ऋतुओं का राजा है जो कि प्रकृति से संबंधित है इसलिए इस दिन किसी भी पेड़ पौधे को नुकसान न पहुंचाएं.

बसंत पंचमी के शुभ मुहूर्त

पंचमी तिथि आरंभ- 16 फरवरी दिन मंगलवार प्रातः 03 बजकर 36 मिनट से…पंचमी तिथि समाप्त- 17 फरवरी दिन बुधवार प्रातः 5 बजकर 46 मिनट तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.