भाद्रपद पूर्णिमा, जानिए क्यों होती है इस दिन सत्यनारायण पूजा

Bhadrapada Purnima Vrat, Purnima Shradh, Pitru Paksha 2020 Bhadrapada Purnima Ka Mahatva Bhadrapada Purnima 2020

Bhadrapada Purnima Vrat katha And puja vidhi, Purnima Shradh, Pitru Paksha 2020 

भाद्रपद पूर्णिमा तिथि को पुण्य फलदायक माना गया है यह मुख्य रुप से भगवान सत्यनारायण को समर्पित है। जैसे की सभी जानते हैं पूर्णिमा तिथि की रात चंद्रमा अपने पूर्ण स्वरुप में होता है और उसकी सबसे अधिक तीव्र और अलौकिक होती है। वैसे तो चंद्र कैलेण्डर के अनुसारप्रत्येक माह पूर्णिमा तिथि आती है इस प्रकार से  पूरे साल में 12 पूर्णिमा पड़ती हैं।

भादप्रद मास की पूर्णिमा Bhadrapada Purnima Vrat vidhi

पूर्णिंमा तिथि के आधार पर ही हिंदी कैलेण्डर के माह परिवर्तित हैं इस तिथि पर पूरे माह के अनेक व्रत त्योहार भी निर्धारित होते हैं। इसलिए हर माह के नाम पर पूर्णिमा तिथि का नाम होता है यही वजह है कि भादप्रद मास की पूर्णिमा को भादप्रद पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। इस दिन चंद्रमा पूर्वभाद्र उत्तरभाद्र नक्षत्र में स्थित होता है। अब हम आपको इस तिथि से जुड़ी हुई कुछ खास बातें बताने जा रहे हैं।

Read also : गणेश विसर्जन अमावस्या जानिए सितंबर माह की विशेष तिथियां

श्री हरि के सत्यनारायण रूप की पूजा Satyanarayan puja vidhi

भगवान विष्णु के हर रुप की अलग-अलग महिमा है इस दिन अर्थात भाद्रपद पूर्णिमा के दिन श्री हरि के सत्यनारायण रूप की पूजा की जाती है नारद पुराण में ऐसा बताया गया है कि इस दिन उमा महेश्वर व्रत भी धारण किया जाता है। विद्वानों का ऐसा मत है कि इस दिन भगवान विष्णु ने उमा महेश्वर व्रत धारण किया था।

भगवान विष्णु की संपन्नता छिन गई थी Bhadrapada Purnima Vrat 2020

भाद्रपद पूर्णिमा Bhadrapada Purnima इसलिए भी अधिक महत्व रखती है क्योंकि इसी दिन से पितृ पक्ष यानी श्राद्ध तिथि Pitru Paksha 2020 का प्रारंभ होता है जब पितरों के आशीर्वाद के लिए पूजा की जाती है। कहा जाता है कि दुर्वासा ऋषि के श्राप के कारण भगवान विष्णु की संपन्नता छिन गई थी इस व्रत को धारण करने के पश्चात ही उन्हें उनकी संपन्नता वापस प्राप्त हुई थी। यह भी एक वजह है कि इस पूर्णिमा पर भगवान श्री सत्यानारायण स्वमी की कथा कराने और सुनने का विधान है।

भगवान सत्यानारायण के चरणों में अर्पित करे  पंचामृत Lord satyanarayan and badrapada Purnima Vrat 2020

कहा जाता है कि इससे जातक को पुण्य प्राप्त होता है। भगवान सत्यानारायण के चरणों में पंचामृत अर्पित कर उसे भक्तों में बांटना चाहिए साथ ही उन्हें फल, फूल नैवेध आदि चढ़ाने चाहिए। भाद्रपद पूर्णिमा के और भी कई महत्व हैं गृह प्रवेश के लिए इस दिन को अति शुभ माना गया है। Bhadrapada Purnima Ka Mahatva

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.