धर्म कथाएंधर्म प्रवर्तक और संत

कभी किसी को ना बताएं अपने ये सीक्रेट्स

Chankaya

Chanakya Niti in Hindi use these tips to Live a good life

चाणक्य नीति जिसके मानने वालों की ना कल कमी थी ना आज है। वक्त बदल गया। कैलेण्डर ईसा पूर्व से ईसवी और फिर साल की ओर प्रस्थान कर गया। लेकिन चाणक्य का नाम जैसा कल था आज भी वैसा ही अजर अमर है। इसका सबसे बड़ा कारण उनकी नीतियां। कहा यह भी जाता है कि जिसके गुरु चारणक्य के समान हों उसका शिष्य चंद्र गुप्त हो सकता है। उन्हें गुरुओं में श्रेष्ठ स्थान प्रदान किया गया है। उनके रचित ग्रंथ अर्थशास्त्र के समान आज भी कोई दूसरा ग्रंथ नही रचा जा सका है।

 

संस्कृत साहित्य में भी विष्णुगुप्त का महत्वपूर्ण स्थान

संस्कृत साहित्य में भी विष्णुगुप्त अर्थात चाणक्य का महत्वपूर्ण स्थान है। चाणक्य नीति के रचनाकार भी वे ही माने जाते हैं। जो कि असल में संस्कृत में बताया जाता है। जानकारों के माध्यम से ऐसा बताया जाता है कि इस ग्रंथ में मनुष्य जीवन को सफलता के मुकाम तक पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण सूत्र बताए गए हैं। इनमें से कुछ हम आपको बताने जा रहे हैं।

-अपना राज अपनी पत्नी को भी नही बताना चाहिए। क्योंकि स्त्रियां अक्सर किसी बात को छिपाकर नहीं रख पातीं और ये आपके लिए नुकसानदायी हो सकता है। हां यदि काम की सफलता के बाद आप उन्हें चाहें तो अवश्य ही इस खुशी को बांटे।

Read also: Dwitiya Shradh 2020 द्वितीया श्राद्ध से पाएं संतान के कष्टों से निवृत्ति

-यदि आप किसी से प्रोम करते हैं तो इस रहस्य को भी बरकरार रखें, जब तक कि उसका कोई परिणाम हाथ में ना आए, सामाजिक दृष्टिकोण के अनुसार ही किसी बात को तय कर आगे बढ़ें। यदि यह राज आप किसी को बताते हैं तो यह भविष्य में आपके लिए घातक हो सकता है।

Read also: जीवन को आसान बनाएंगी चाणक्य की बतायी गई ये नीति

-धन देखकर किसी का भी ईमान डोल जाता है। इसलिए अपनी असल संपत्ति या धन का जिक्र किसी से भी ना करें। ये आपकी जान और धन दोनों की सुरक्षा करेगा। समय आने पर ही इस संबंध में कोई निर्णय लें।

– कभी जीवनसाथी से किसी बात को लेकर अनबन हो जाती है। तो यह राज भी किसी को ना बताएं, दांपत्य जीवन में उतार चढ़ाव बना रहता है। आपसी अनबन भी इसी का एक हिस्सा ही समझिए। इससे आप जीवन में अनेक कठिनाईयों से बच जाते हैं। अन्यथा आपकी बनी बनायी गृहस्थी भी खतरे में आ सकती है। यही आपके मानसिक स्तर पर भी प्रभाव डालता है। Chanakya Niti in Hindi

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!