धर्म कथाएंहिन्दू धर्म कथाएं

शाम के वक्त गलती से भी ना करें ये काम

devi laxmi

Lord Vishnu And Mata Laxmi, Do not do these things in the evning

भारतीय शास्त्रों में कुछ नियम बताए गए हैं जो मनुष्य को करने और नही करने चाहिए। यहां हम आपको कुछ ऐसे नियम बताने जा रहे हैं जो शाम के समय नही करना चाहिए। इन्हें करने से लक्ष्मी नाराज होती हैं और घर में दरिद्रता का वास होता है। ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी इन मान्यताओं को माना जाता है हालांकि शहरी इलाकों में इन पर यकीन करने वालों की संख्या कम है।

मान्यता है कि शाम से रात तक के समय में दूध या दही किसी को देना नहीं चाहिए। शाम के समय आप इन्हें बाहर से खरीदकर घर में तो ला सकते हैं लेकिन इन्हें घर से बाहर किसी को न दें। कहा जाता है कि ऐसा करने से घर में दरिद्रता का वास होने लगता है।

Read Also: इस बार कब होगी घटस्थापना, 25 दिन आगे बढ़े शारदेय नवरात्रि

मुख्य द्वार पर गंदगी ना करें

घर के मुख्य द्वार पर गंदगी ना करें। साफ-सफाई रखें खासतौर पर शाम के वक्त। जिस तरह सुबह घर में पूजा करने से पहले साफ सफाई करते हैं उसी प्रकार शाम को भी घर में सूरज के अस्त होने से पहले झाड़ू जरूर लगाएं।

Read also: भगवान पशुपति के समीप ही विराजीं हैं मां शक्ति

कभी भी ना छोड़ें खासकर जूठे बर्तन

रात को रसोई घर में गंदगी कभी भी ना छोड़ें खासकर जूठे बर्तन। ऐसा करने से भी आप मां लक्ष्मी को नाराज कर देंगे। घर की किचिन हमेशा साफ रखना चाहिए। इस बात का ध्यान अवश्य रखें वह भी हर रोज।

इससे देवी अन्नपूर्णा का भी अपमान

मां लक्ष्मी की कृपा से ही हमें अन्न की भी प्राप्ति  है। इसलिए कभी भी अन्न का अनादर न करें। इसके साथ ही कभी भी खाने को छोड़ना नहीं चाहिए। थाली में कभी भी खाना ना छोड़ें और ना ही कभी भी खाने को जमीन पर गिराएं इससे देवी अन्नपूर्णा का भी अपमान होता है।

शाम के वक्त भोजन में कुछ मीठा

मान्यता है कि जिस घर में महिलाओं का अपमान होता है वहां देवी लक्ष्मी वास नहीं करतीं। इसलिए अपने घर में हमेशा महिलाओं का आदर करें। इसके अलावा यदि संभव हो तो शाम के वक्त भोजन में कुछ मीठा अवश्य बनाएं और मां लक्ष्मी को इसका भोग लगाएं।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies