भगवान पशुपति के समीप ही विराजीं हैं मां शक्ति

guhyeshwari temple

Guhyeshwari Shakti Peeth at Kathmandu Nepal

जहां भी महादेव हों वहां माता शक्ति अवश्य ही होती है। या ऐसे भी कहा जा सकता है कि जहां सती हैं जहां शक्ति हैं वहां शिव हैं। नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर के समीप ही मां शक्ति का एक और दिव्य स्थल है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां माता सती के संधिस्थल गिरे थे। इन्हें यहां माता महामाया के नाम से जाना जाता है।

तंत्र विद्या के लिए भी जाना जाता है

इस शक्ति पीठ को तंत्र विद्या के लिए भी जाना जाता है। इसलिए सामान्य श्रद्धालुओं के साथ ही यहां तांत्रिकों का भी आगमन होता है। मान्यता है कि कोई तंत्र विद्या अर्जित करने आता है तो कोई प्रयोग करने। जो भी हो यहां आने वाले भक्तों में हर वर्ग के शामिल हैं फिर चाहे वे देशी हों या विदेशी। guhyeshwari shaktipeeth where shakti is mahamaya

भगवान पशुपति नाथ के समीप ही विराजीं हैं मां शक्ति

पशुपति नाथ मंदिर से माता कुछ ही दूरी पर विराजीं हैं। ये बागमती नदी के दूसरी तरफ स्थित इस मंदिर में दर्शन देती हैं। इन्हें नेपाल की अधिष्ठात्री देवी के रूप में पूजी जाता है। इन्हें गुह्याकाली भी कहा जाता है। वैसे जानकारों का मानना है कि मंदिर का स्थान तंत्र विद्या में होने की वजह से यहां इनकी संख्या ज्यादा देखने मिल जाती है।

Read also: इस बार कब होगी घटस्थापना, 25 दिन आगे बढ़े शारदेय नवरात्रि

वल्र्ड हेरिटेज साइट्स में शामिल है ये मंदिर

गुह्येश्वरी शक्तिपीठ Guhyeshwari Shakti Peeth  करीब 2500 साल पुराना बताया जाता है। भगवान पशुपति नाथ के दर्शनों के लिए आने वाले भक्त यहां आना भी नही भूलते। यह काठमांडू में यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स में भी शामिल है। इस मंदिर के निर्माण के बारे में बताया जाता है कि करीब 17वीं सदी में राजा प्रताप मल्ला ने इस मंदिर का निर्माण प्रारंभ कराया था। इसके बाद कांतिपुर के नौवें राजा ने पगोड़ा शैली में बने इस मंदिर का पुनः जीर्णोद्धार करवाया।

देखते ही बनती है यहां की कलाकृति

नेपाल जैसे स्थान में स्थित होने की वजह से यहां पहुंचने के कई साधन है। श्रद्धालु बस ट्रेन और हवाई रास्ते द्वारा काठमांडू पहुंच सकते हैं। भगवान पशुपति नाथ के दर्शनों के पश्चात आसानी से देवी के दर्शनों के लिए पहुंचा जा सकता है। यह स्थान जितना धार्मिक दृष्टि से अद्भुत है उतना ही यहां की कलाकृति भी देखते ही बनती है। गुह्येश्वरी शक्तिपीठ भी लगभग पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। Maa Guhyeshwari Shakti Peeth Kathmandu nepal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.