धर्म कथाएंपर्व और त्यौहारपूजन विधिहिन्दू धर्म कथाएं

Happy Holi 2020 होलिका दहन में भद्रा की बाधा नहीं, अपनी राशि के वृक्षों की भी करेंगे पूजा

chamatkari upay hindi me, chamatkari upay bataye, chamatkari upay for holi, chamatkari upay hindi me, chamatkari upay, उपाय, pandit priya sharan tripathi, pandit priya sharan tripathi on holi, pandit priya sharan tripathi , astrologer priya sharan tripathi, priya sharan tripathi horoscope in hindi, priya sharan tripathi weekly horoscope, priya sharan tripathi astrologer, jyotish upay by priya sharan tripathi, upay by priya sharan tripathi, upay by priya sharan tripathi in hindi, totke or upay by priya sharan tripathi, gharelu totke by priya sharan tripathi, gharelu totke by priya sharan tripathi in hindi, gharelu totke hindi by priya sharan tripathi, होली के बारे में जानकारी, होली के दिन वशीकरण, lal kitab ke holi ke totke, lal kitab me holi ke totke, holi traditional worship, holi ke totke, holi festival india 2018, holi festival india 2018 in hindi, history of holi, holi festival information,holi wikipedia, holi 2018 date in india calendar, holi in hindi, holi festival essay, Holi 2018 in Chhattisgarh will begin in the evening of Thursday, 1 March and ends in the evening of Friday, 2 March Dates may vary, Holi is a Hindu spring festival, holi festival celebrated in the Indian subcontinent, holi also known as the festival of colours, dhuleti 2018, dhuleti meaning, dhuleti in hindi, holi dhuleti 2018, holi dhuleti 2018 date, holi 2018 in hindi, dhuleti 2018, holi 2018 date in india calendar, thursday 1 march, friday 2 march, holi, holi festival 2018, holi festival, holi, holi festival india 2018, holi traditional dance, holi traidtion, holi facts, होली, होली की परंपरा, अंगारों पर चलते हैं भक्त, गल , चुल, holi 2018 date in india calendar, holi festival india 2018, holi dhuleti 2018 date, holi dhuleti 2018, चमत्कारिक उपाय, चमत्कारी उपाय, होली पर चमत्कारिक उपाय, होली पर चमत्कारी उपाय, होली के उपाय, होली टोटकों के उपाय, होली के सरल उपाय, जादू टोना, तंत्र मंत्र यंत्र, होली टोटके, लवर्स, ज्योतिष में होली, होली रंग, राशि और होली, होली का त्योहार, होली 2018, रंगपंचमी, होली उत्सव, पंडित पी. एस. त्रिपाठी, पंडित पी. एस. त्रिपाठी के नम्बर, पंडित पी. एस. त्रिपाठी का घर कहां हैं, पंडित पी. एस. त्रिपाठी के मोबाइल नम्बर, पंडित पी. एस. त्रिपाठी के उपाय, पंडित पी. एस. त्रिपाठी जी से बात, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी के नम्बर, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी मोबाइल नम्बर, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी का घर कहां है, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी से कैसे मिलें, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी से भविष्य, पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी जी भविष्य बताएं, मेरे भविष्य में क्या है पंडित प्रिया शरण त्रिपाठी जी, lal kitab ke chamatkari upay, chamatkari totke upay, makan prapti ke upay in hindi, chamatkari totke video, kali mirch ke upay, jyotish kitab upay in hindi,dhan prapti ke upay lal kitab, achanak dhan prapti ke upay

भोपाल: अशुभ मानी गई भद्रा 2020 में होलिका दहन holika dahan 2020 में बाधा नहीं बनेगी, जबकि दहन के समय कई शुभ मुहूर्त बनेंगे। होली पर्व की शुभ घड़ी को जारी रखने के लिए ज्योतिषियों ने कहा है कि इस दौरान पेड़ों को काटकर ग्रह-नक्षत्रों को नाराज न करें बल्कि होलिका दहन holika dahan kab hai 2020 में गो काष्ठ का उपयोग करें। इससे पर्यावरण भी सुरक्षित होगी। ज्योतिषाचार्य पं. विष्णु राजौरिया ने कहा है 9 मार्च को अशुभ माना गया bhadra yoga 2020 भद्रा योग दोपहर 1.19 बजे तक ही रहेगा।

यानी होलिका दहन 2020 holika dahan kab hai के समय भद्रा bhadra yoga 2020 नहीं रहेगी। वहीं प्रदोष काल में होलिका दहन का शुभ मुहूर्त शाम 6.35 से रात 11.05 तक होगा। सोमवार और पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र होने से इस दौरान ध्वज योग रहेगा, जो यश और कीर्ती और विजय प्रदान करने वाला योग रहेगा। holika dahan होलिका दहन फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शाम के समय भद्रा bhadra yoga 2020 के अलावा समय में किया जाना ही सही है। bhadra भद्रा का स्वभाव उग्र होने के कारण इसमे होलिका दहन मना है। इस दिन पूर्णिमा सूर्योदय से रात 11.30 तक रहेगी। इसके बाद 10 मार्च को होली खेली जाएगी। वहीं rang panchami 2020 date 14 march 2020 रंगपंचमी का पर्व 14 मार्च को होगा।

राशि अनुसार करें पेड़ों की पूजा

ज्योतिषियों का कहना है कि इस बार के होलिका दहन में पेड़ों को नहीं जलाएं केवल गो काष्ठ का ही उपयोग करें। क्योंकि पेड़ों को काटकर जलाना अशुभ फल देता है। ped ki pooja पेड़ों की इस दिन पूजा करना बेहद शुभ फल देता है। खासतौर से राशि अनुसार होली पर पेड़ों की पूजन rashi ke anusar ped ki puja की जाए तो ग्रह नक्षत्र शुभ परिणाम देंगे। जीवन में 12 राशियों और 9 ग्रह और 27 नक्षत्रों का बड़ा महत्व होता हैं। सभी राशियां व ग्रहों और नक्षत्रों का संबंध पेड़ों से होता है।


इसलिए राशि अनुसार पेड़ों की पूजन करना चाहिए। मेष राशि mesh rashi वालों को अनंतमूल पेड़, वृषभ राशि vrashabh rashi वालों को शरपुंखा पेड़ की पूजा, मिथुन राशि mithun rashi वालों को विधारा पेड़ की पूजन करना चाहिए, कर्क राशि kark rashi वालों को खिरनी पेड़ की पूजा, सिंह राशि singh rashi वालों को हरिद्रा पेड़ की पूजा करना चाहिए, कन्या राशि kanya rashi वालों को विधारा पेड़ की पूजन करना चाहिए, तुला राशि tula rashi वालों को शरपुंखा पेड़ की पूजा, वृश्चिक राशि vrishchik rashi वालों को अनंतमूल पेड़ की पूजा करना चाहिए, धनु राशि dhanu rashi वालों को हरिद्रा पेड़ की पूजा करना चाहिए, मकर राशि makar rashi वालों को बिच्छोल, कुंभ राशि kumbh rashi वालों को बिच्छोल और मीन राशि meen rashi वालों को हरिद्रा पेड़ की पूजन करना चाहिए। राशि अनुसार पेड़ की पूजन ped ki puja से जीवन में खुशहाली और समृद्धि आती है।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!