धर्म कथाएं

दिवाली की रात ये उपाय करते ही खिंची चली आएंगी धन की देवी, सभी समस्याओं से हो जाओगे मुक्त

Diwali Upay 2022: कार्तिक माह की अमावस्या के दिन ही दिवाली का त्योहार मनाया जाता है. साल की सबसे बड़ी अमावस्या में से एक है. इस दिन मां लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा का विधान है. इस दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लोग विधि-विधान से पूजा-पाठ करते हैं. साथ ही, कुछ उपाय भी किए जाते हैं. ताकि सालभर मां की कृपा उनपर बनी रहे. मां लक्ष्मी की कृपा से उन्हें धन-धान्य की कमी नहीं होती.

हर माह की अमावस्या पर ज्योतिष शास्त्र में कई उपायों के बारे में बताया गया है. लेकिन कार्तिक माह की अमावस्या ज्यादा खास होती है. इस दिन कई तरह की समस्याओं के समाधान के लिए कई उपाय किए जाते हैं. अगर आप भी रोग, दुख और किसी तरह की बाधा से परेशान हैं, तो दिवाली के दिन इन उपायों को करने से समस्याओं से निजात मिलती है.

कार्तिक अमावस्या पर कर लें ये उपाय

– शास्त्रों में कार्तिक अमावस्या को बड़ी अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन किए कुछ उपाय व्यक्ति के दुख और बाधाओं को दूर करते हैं. इस दिन गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन कराएं और दक्षिणा दें. ऐसा करने से अन्न-धन की कमी नहीं होती.

– मानसिक और शारीरिक रोग से गुजर रहे हैं लोगों को कार्तिक अमावस्या के दिन महामृत्युंजय जाप करना चाहिए.

– आर्थिक संकट से गुजर रहे लोगों को अमावस्या के दिन भगवान विष्णु का नाम लेना चाहिए. और नाम लेते समय आटे की 108 गोलियां बनाएं. इस गोलियों को मछलियों को खिलाने से जल्द असर दिखेगा.

– मान्यता है कि अमावस्या के दिन चीटियों को मीठा आटा खिलाने से पाप कर्म मिट जाते हैं. व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

– किसी जातक की कुंडली में कालसर्प दोष होने पर अमावस्या के दिन स्नान के बाद चांदी के बने नाग-नागिनी को सफेद फूल के साथ बहते हुए जल में प्रवाहित करने से कालसर्प योग दूर हो जाता है.

– दिवाली की शाम घर के ईशान कोष में बैठकर मौली के धागे से बत्ती बनाएं और घी में डालकर दीप जलाएं. दीये में थोड़ी केसर या हल्दी मिला दें इससे व्यक्ति आर्थिक दिक्कतें दूर हो जाएंगी.

– नौकरी पर खतरा मंडरा रहा है या फिर बेजरोहार हैं, तो दिवाली के दिन एक नींबू को साफ करके मंदिर में रख दें. ये नींबू सुबह के समय मंदिर में रखें और रात के समय उस बेरोजगार व्यक्ति के सर से 7 बार वार के 4 भागों में काट लें. इसके बाद इसे चौराहे पर चारों दिशाओं में एक-एक करके फेंक दें.

– कार्तिक अमावस्या पर गंगास्नान जरूर करें. संभव न हो तो स्नान करने के जल में गंगाजल मिलाकर नहा लें. इस दिन दान का भी विशेष महत्व बताया जाता है.दिवाली के दिन हनुमान जी का पाठ जरूर करें.

Related Articles

Back to top button