धर्म कथाएंव्रत त्योहारसिख धर्म कथाएं

गुरु ग्रन्थ साहिब का प्रकाश दिवस, जानिए इस दिन के FACTS

Guru Gobind Singh 2020

Light day of Sri Guru Granth Sahib will be celebrated  The Sikh Calendar 2020

Pehla Prakash Purab गुरु ग्रंथ साहिब में सिर्फ सिख गुरुओं के उपदेश नहीं हैं प्रकाश पर्व के इसी दिन गुरु अर्जुन देव ने इस पवित्र ग्रन्थ की स्थापना हरिमंदिर साहिब में की थी। इसी अन्य धर्मों की अच्छी बातें भी हैं। Guru purab  and Festival Dates Sikh religion

1604 में पहली बार गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश Sikh Calendar 2020

Guru Gobind Singh सिखों के पांचवें गुरु अर्जन देव जी Guru Arjun dev ji ने 1604 में दिन दरबार साहिब में पहली बार गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश किया था। 1430 अंक वाले इस ग्रंथ के पहले प्रकाश पर संगत ने कीर्तन दीवान सजाए और बाबा बुड्ढा जी ने बाणी पढ़ने की शुरुआत की। Guru purab  and Festival Dates पहली पातशाही से छठी पातशाही तक अपना जीवन सिख धर्म की सेवा को समर्पित करने वाले बाबा बुड्ढा जी इस ग्रंथ के पहले ग्रंथी माने जाते हैं। आगे चलकर इसी के संबंध में दशम गुरु गोबिंद सिंह ने ऐसे आदेश जारी किया सब सिखन को हुकम है गुरु मान्यो ग्रंथ। Sikh religion and Sri Guru Granth Sahib prakash diwas

Read More : वास्तु शास्त्र: घर में इस तरह रखें आइने की पाॅजिशन

गुरु अर्जन देव बोलते गए और भाई गुरदास लिखते गए Guru purab and Festival Dates

Guru Granth Sahib ऐसा बताया जाता है कि 1603 में 5वें गुरु अर्जन देव ने भाई गुरदास से गुरु ग्रंथ साहिब को लिखवाना शुरू कराया था जो करीब 1604 में पूर्ण हुआ। 1705 में गुरु गोबिंद सिंह Guru Gobind Singh ने दमदमा साहिब में गुरु तेग बहादुर के 116 शबद जोड़कर इन्हें पूर्ण किया। 1708 में दशम गुरु गोबिंद सिंह ने हजूर साहिब में फरमान जारी किया था। Guru Granth Sahib and Guru Arjun dev

Read More : साप्ताहिक राशिफल – 31 अगस्त से 06 सितंबर, 2020 पंं. पीएस त्रिपाठी की भविष्यवाणी

समझने सही मार्ग दिखाने का कार्य Guru Granth Sahib and Prakash parav

Prakash parv 2020 यह दिन सिख समुदाय के लोगों के लिए बेहद खास होता है फिर चाहे वे देश में रह रहे हों या विदेश में। इस पर्व की धूम सिख समाज में जोर-शोर से होती है। सभी धर्मावलंबी सदियों से चली आ रही परंपरा का निर्वाह करते हैं। Pehla Prakash Purab गुरु ग्रंथ साहिब दी गई सीख और मार्गदर्शन ही इन्हें जीवन के अच्छे और बुरे को समझने सही मार्ग दिखाने का कार्य करता है। Guru Granth Sahib Prakash purab ऐसा बताया जाता है कि गुरु गोबिंद सिंह ने ही सिख धर्म के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब को पूरा किया और गुरु गोबिंद सिंह जी ने गुरु प्रथा को समाप्त कर इसके बाद गुरु ग्रंथ साहिब को ही मानने का हुक्म तामील किया। Guru Gobind Singh and Guruu granth sahib

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies