छत्तीसगढ़मध्यप्रदेशसमाचार

लॉकडाउन के बाद मंदिर खोलने के लिए हो रही तैयारियां, इन नियमों का करना होगा पालन

Mandir Kab Khulenge

लॉकडाउन के चलते बंद मंदिर कब खुलेंगे। यह सवाल सभी के मन में हैं और हम सभी भी जनना चाहते हैं कि हमारे आसपास के मंदिर या देशभर के प्रसिद्ध मंदिर कब खुलेंगे। Mandir Kab Khulenge इसको लेकर हम मंदिर की वेबसाइटों समेत इटरनेट पर भी सर्च कर रहे हैं, लेकिन तथ्यात्मक जानकारी कही पर नहीं मिल रही कि पक्का जवाब मिल जाए। मंदिर कब खुलेंगे?। इसका जवाब आज धर्म कथाएं डॉट कॉम पर हम देने वाले हैं, लेकिन मंदिर खुलने के बाद कुछ विशेष नियमों का पालन करना होगा। खास सतर्कता से ही मंदिरों में दर्शन किए जा सकेंगे।
लॉकडाउन पूरा होने के बाद मंदिर जिस समय भी खुलेंगे, उस समय से कई दिनों तक मंदिरों में भीड़ लगने नहीं दी जाएगी। इस साल कोई भी बड़ा धार्मिक महोत्सव और धार्मिक समारोह नहीं किया जाएगा। मंदिर में आने-जाने वाले श्रद्धालुओं को साबुन और सैनिटाइजर से अच्छे से हाथ-पैर छोकर जाना होगा। पूजन और आरती के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरी तरह से पालन अनिवार्य रहेगा।

खोलने को लेकर विचार

भोपाल समेत देशभर के कई मंदिरों में इस तरह ही मंदिर खोलने से पहले कुछ नए नियम बनाने को लेकर तैयारियां की जा रही हैं। दरअसल मंदिर खोलने की कोई तारिख तय नहीं की गई हैं, लेकिन 3 मई के लॉकडाउन खत्म होने के बाद मंदिरों को भी खोलने को लेकर विचार किया जा रहा हैं। इसमें कुछ धार्मिक स्थल अभी और कुछ दिन मंदिरों के कपाट बंद रख सकते हैं। वहीं कुछ मंदिरों के पुजारियों का यह भी कहना है कि अगर लॉकडाउन और बढ़ता है तो मंदिर भी बंद ही रहेंगे।Mandir Kab Khulenge वहीं मंदिर खोलने से पहले भक्तों के लिए नए नियम भी बनाए जा रहे हैं, जिनका हर हाल में पालन किया जाएगा।

मंदिरों में सालभर नहीं होगा बड़ा आयोजन

मंदिरों के पुजारियों का कहना है कि कोरोना को लेकर मंदिरों में इस साल कोई भी बड़ा आयोजन नहीं किया जाएगा। भोपाल के बिरला मंदिर के व्यवस्थापक केके पाण्डेय का कहना है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सालभर तक मंदिर में भक्तों की भीड़ नहीं लगने दी जाएगी। मंदिर में मास्क लगाकर या मुंह बांधकर आने पर ही प्रवेश दिया जाएगा। फर्श पर दो दो फीट के गोले लगाए जाएंगे ताकि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। मंदिर खुलने को लेकर समय भी कम रहेगा। देशभर के मंदिरों में भी कुछ विशेष प्रकार के नियम रहेंगे, जिन्हें पालन करने वालों को ही मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। उत्तराखंड में केदारनाथ मंदिर के कपाट इस बार 29 अप्रैल के बजाए 14 मई को खुलेंगे। वहीं बद्रीनाथ के कपाट 30 अप्रैल की जगह 15 मई को खुलेंगे।Mandir Kab Khulenge उत्तराखंड के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने सोमवार को घोषणा की है। टिहरी के महाराजा ने लॉकडाउन को देखते हुए नई तारीखें घोषित की हैं।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!