धर्म कथाएंधार्मिक स्थलसमाचारहिन्दू धर्म कथाएं

चमत्कारी हनुमानजी ने बचाई जान, मंदिर की गुंबज पर गिरी आकाशीय बिजली

miraculous hanuman temple Avoiding Sky Power in monsoon season

राजगढ़ (ब्यावरा). भगवान हनुमान जी ने एक बार फिर चमत्कार दिखाया है। मध्यप्रदेश के राजगढ़ में एसपी ऑफिस के पास बिजली गिरी, जिसे हनुमानजी ने अपने निर्माणाधीन मंदिर की गुंबज पर लेकर कईयों को बचाया। यह सच्ची घटना 5 जून को दोपहर के समय की है।
मौसम अचानक बदला और तेज हवाओं के साथ बारिश होने लगी। इसी दौरान बादलों की गर्जना के साथ क्षेत्र में बिजली गिरी। इस बिजली को भगवान हनुमानजी ने अपने मंदिर की गुंबज पर ले लिया। इससे कोई हानि तो नहीं हुई लेकिन गुंबज पर काला निशान जरूर हो गया है। आपको बता दें कि फिलहाल मंदिर निर्माणाधीन है, यहां मूर्ति की स्थापना भी अभी नहीं हुई है।



एसपी-कलेक्टर ऑफिस पर थी चहल पहल
घटना के वक्त समीप में ही स्थित कलेक्टर और एसपी ऑफिस में काफी चहल पहल थी। बताया जाता है कि अगर बिजली मंदिर की बजाए कहीं ओर गिरती तो काफी बड़ी घटना हो सकती थी। भगवान हनुमानजी ने इस बड़े संकट से राजगढ़वासियों को बचा लिया। दरअसल पुलिस अधीक्षक ऑफिस के पास में भगवान हनुमान के मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है। मंदिर की गुंबज पर आकाशीय बिजली गिरी, इससे कोई नुकसान भी नहीं हुआ है। समीप में ही कलेक्टर और एसपी ऑफिस भी है। यह बिजली अगर इन कार्यालयों पर गिर जाती तो बड़ी दुर्घटना की आशंका थी। भगवान हनुमानजी ने एक बार फिर चमत्कार किया और इस दुर्घटना के संकट को हर लिया।
निर्माणाधीन मंदिर में ही चमत्कार
क्षेत्र के लोग इस घटना को भगवान हनुमानजी के चमत्कार के रूप में देख रहे है। सुनील गुप्ता ने बताया कि इस घटना में भगवान हनुमानजी की बड़ी कृपा रही।



इससे बड़ा हादसा टल गया। इससे यह भी साबित हुआ कि यह मंदिर काफी चमत्कारी है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा फोटो
भगवान हनुमानजी के इस मंदिर की घटना का फोटो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इसमें बताया जा रहा हैै, कि भगवान ने लोगों के संकट को हर लिया है। इसके साथ ही अपने मंदिर की गुंबज पर बिजली ले ली। इससे बड़ी घटना से क्षेत्र के रहवासी बच गए। वहीं मंदिर की गुंबज पर निशान देखा जा सकता है।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!