फ़ोटो गैलरी

सपा में शिवपाल यादव की वापसी का रास्ता साफ़ करने में लगे ‘नेता जी’, बनाए जा सकते हैं..

समाजवादी पार्टी लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद अभी भी चिंतन में है. पार्टी अभी तक इस बात को ठीक से समझ नहीं पाई है कि चूक आखिर कहाँ हो गई. पार्टी के अन्दर इस तरह की बात चल रही है कि यादव परिवार में जो कुछ भी फूट थी उसे दूर किया जाए और पार्टी को फिर से एकजुट किया जाए. समाजवादी पार्टी में लगातार मीटिंग का दौर जारी है. पुराने शुभचिंतक चाहते हैं कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव को वापिस पार्टी में लाया जाए.

शिवपाल यादव खेमा भी इस बात को मानता है कि उन्हें फिर से सपा में अगर अच्छी पोजीशन मिलती है तो चले जाना चाहिए. शिवपाल यादव इस बार फ़िरोज़ाबाद से लोकसभा चुनाव में उतरे थे लेकिन वो यहाँ बहुत प्रभाव न छोड़ सके. मुलायम सिंह यादव ये मानते हैं कि शिवपाल और अखिलेश अगर मिलकर काम करेंगे तो सपा फिर से अपना सुनहरा दौर देख सकती है.

सूत्रों की माने तो ये बात शिवपाल तक पहुँचा दी गई है. शिवपाल भी इच्छुक हैं वापिस सपा में जाने के लिए. परन्तु उन्हें अपने सभी कार्यकर्ताओं को समझाना है. उनकी पार्टी भले ही बहुत अच्छा परफॉर्म न कर सकी हो लेकिन वो संगठन बनाने में कामयाब रहे हैं. उनके समर्थक भी प्रदेश में बड़े तादाद में हैं. माना जाता है कि सपा अब ज़मीन से जुड़े नेताओं को पार्टी में वापिस लाने की कोशिश में है.

पिछले कुछ वक़्त में सपा में कई नेता जो सेल्फी खिंचाने में ज़्यादा यकीन रखते हैं उनको बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. मीडिया में जाने वाले प्रवक्ताओं पर तो पहले ही गाज गिर चुकी है. अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव और आज़म ख़ान लगातार मंथन की स्थिति में हैं. ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही शिवपाल यादव को लेकर बड़ा एलान हो सकता है.ऐसा माना जा रहा है कि शिवपाल को उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष बनाया जा सकता है लेकिन अभी तक इस मामले में कोई भी सपा नेता कुछ भी बुलने से बच रहा है.

1 comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies