आज का राशिफलधर्म कथाएंपर्व और त्यौहारपूजन विधिहिन्दू धर्म कथाएं

कमला एकादशी, अधिक मास के कारण विशेष शुभ फलदायी, पंडित पीएस त्रिपाठी की भविष्यवाणी

आज का पंचांग-पंडित पीएस त्रिपाठी aaj ka panchang

दिनांक 27.09.2020 शुभ संवत 2077 शक 1942 सूर्य दक्षिणायन का प्रथम (अधिक) आश्विन मास शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि …रात्रि को 07 बजकर 47 मिनट तक … दिन … रविवार … श्रवण नक्षत्र … रात्रि को 08 बजकर 50 मिनट तक … आज चंद्रमा … मकर राशि में … आज का राहुकाल दोपहर को 04 बजकर 24 मिनट से 05 बजकर 54 मिनट तक होगा …

कमला एकादशी, अधिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी पद्मिनी एकादशी कहलाती है। इसे कमला एकादशी भी कहा जाता है। एकादशी तिथि व्रत कृष्ण और पक्ष दोनों ही तिथियों में शुभ फलदायी माना जाता है। प्रत्येक एकादशी का अपना विशेष महत्व होता है। ऐसे में प्रत्येक वर्ष 24 एकादशी उपवास रखे जाते हैं लेकिन जिस वर्ष में अधिक मास भी पड़ रहा हो जैसा कि 2020 में अश्वनी मास में अधिक मास भी चलेगा। उस वर्ष एकादशियों की संख्या 26 हो जाती है। अधिकमास वैसे भी स्नान, दान, पूजा पाठ आदि धार्मिक, आध्यात्मिक कार्यों को करने का होता है तो इस मास की एकादशी तिथि बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाती है। आइए जानते हैं कमला (पद्मिनी) एकादशी का महत्व व इसकी व्रत कथा के बारे में।
पद्मिनी एकादशी व्रत व पूजा विधि –
पद्मिनी एकादशी का व्रत भी अन्य एकादशियों की तरह ही रखा जाता है। एकादशी के दिन स्नानादि के पश्चात भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है। इस व्रत को निर्जला रखने से यह बहुत पुण्य फलदायी माना गया है। इस दिन विष्णु या शिव पुराण का पाठ किया जाता है। भजन कीर्तन कर रात्रि जागरण भी करना चाहिये। जागरण के समय प्रति पहर भगवान विष्णु और भगवान शिव को अलग-अलग भेंट चढ़ाएं। इसमें नारियल, बेल, सीताफल, नारंगी, सुपारी आदि अर्पित कर सकते हैं। द्वादशी के दिन श्री हरि की पूजा कर ब्राह्मण को भोजन करवाने व दक्षिणा देने के पश्चात स्वयं आहार ग्रहण करें। व्रत पालन के समय सात्विकता का ध्यान रखें। तामसिक पदार्थों के साथ-साथ विचारों से भी दूरी बनाएं रखें।
पद्मिनी एकादशी 2020 व्रत तिथि व मुहूर्त
वर्ष 2020 में कमला एकादशी या कहें पद्मिनी एकादशी की तिथि 27 सितंबर को है।
एकादशी तिथि – 27 सितंबर 2020
पारण का समय – प्रातः 06:13 से 08:36 बजे तक (28 सितंबर 2020)
एकादशी तिथि आरंभ – 19:01 बजे (26 सितंबर 2020)
एकादशी तिथि समाप्त – 17:47 बजे (27 सितंबर 2020)
पद्मिनी (कमला) एकादशी की कथा –
कहते हैं प्राचीन समय की बात है। माहिष्मति नगरी में एक चंद्रवंशी राजा कृतवीर्य हुआ करते थे। उनकी बहुत सारी रानियां भी थी। लेकिन दुख की बात राजा के लिये यह थी कि किसी भी रानी से उन्हें कोई संतान नहीं मिली। राजा ने बहुत प्रयत्न किये लेकिन कोई यत्न नहीं बन रहा था। अंत में राजा ने तपस्या करने की ठानी। रानियों सहित जंगलों में वास करने लगा व व्रत उपवास करने लगा। एक दिन राजा की एक रानी की भेंट माता अनुसूया से हो गई। देवी अनुसूया ने उन्हें मल मास की शुक्ल एकादशी यानि पद्मिनी एकादशी का उपवास करने की कही। माता अनुसूया ने रानी को व्रत पालन की विधी भी बताई। रानी ने विधि अनुसार व्रत का पालन किया तो भगवान प्रसन्न हुए और वरदान मांगने को कहा। रानी ने आग्रह किया प्रभु मेरी जगह मेरे पति को वरदान दीजिए। तब भगवान ने राजा से कहा मांगो क्या मांगते हो वत्स। राजा ने कहा प्रभु मुझे ऐसी संतान प्राप्त होने का वरदान दीजिए जो सर्वगुण संपन्न हो, जिसका तीनों लोकों में यश फैले और जो आपके अलावा किसी से भी पराजित न हो। भगवान ने तथास्तु कहा हो अंतर्धान हो गये। कहते हैं पद्मिनी एकादशी व्रत के प्रताप व भगवान के दिये वरदान के फलस्वरूप राजा कृतवीर्य के यहां पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई नाम रखा गया कार्तवीर्य अर्जुन इन्हें सहस्रबाहु अर्जुन के नाम से भी जाना गया। भगवान दत्तात्रेय के परमभक्त कार्तवीर्य को सर्वगुण संपन्न और अपराजित माना जाता था।
आज की राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-
मेष राशि -मेष राशि वाले जातकों के….तनाव आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकते हैं, अपनी मानसिक स्थिति नियंत्रण में रखनी होगी …. आहार और योग पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होगी ….स्टूडेंट्स को उनके परिश्रम के अनुसार उनको फल प्राप्त होगा ….वाणी पर संयम रखने का प्रयास करें…उपाय करें तो लाभ होगा-
मानसिक शांति हेतु मंत्र जाप करें…हनुमान मंदिर में चमेली तेल चढ़ायें…मसूर का दान करें,

वृषभ राशि -वृषभ राशि वालें जातकों के…कुछ निर्णय सोच-समझ कर लेने की आवश्यकता होगी ….कुछ ऐसा भी अवसर आ सकता है जब आपको कुछ निराशा महसूस हो सकता है…अहंकार तथा आत्म-सम्मान को अपने रिश्तों के मध्य नहीं आने दें…शांति के लिए -ऊॅ नमः षिवाय का एक माला जाप करें……चीनी या चावल का दान करें….स्वेत वस्त्र धारण करें……

मिथुन राशि -मिथुन राशि वाले जातकों के…आपका समय अत्यंत व्यस्तता से भरा रहेगा ….परिणाम का सन्देश आपको मिलेगा…जिसमें आपके लिए शुभ सूचना होगी…आज मानसिक तौर पर दिन थकान भरा होगा….दोषों को दूर करने के लिए …सत्यनारायण भगवान की पूजा…श्री सूक्य का पाठ करें….

कर्क राशि -कर्क राशि वाले सभी जातकों के…..आज नये कार्य के क्षेत्र में प्रयास करेंगे…आज आर्थिक दृष्टि से समय अनुकूल नहीं कहा जा सकता….जीवन साथी से मतभेद संभव…कष्टों से बचाव के लिए -महामाया के दर्षन करें….कार्यक्षेत्र में एकाग्रता बढायें…, गाय को रोटी खिलायें…

सिंह राशि -सिंह राशि वाले सभी जातकों के……चोट की आषंका…वाहन बिगडने के कारण तनाव….दोस्तों से आर्थिक और मानसिक सहयोग मिल जायेगा….उपाय करने चाहिए -ऊॅ कें केतवें नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें…सूक्ष्म जीवों की सेवा करें… गाय या कुत्ते को आहार दें…

कन्या राशि -कन्या राशि वाले सभी जातकों के…मन व्यस्थित रह सकता है…निर्णय में भ्रम की स्थिति…
एलर्जी से शारीरिक कष्ट…उपाय आजमायें-शनि जाप कर दिन की शुरूआत करें…शंकर की उपासना करें… गरीबो को दान दें…

तुला राशि -तुला राशि वाले सभी जातकों के…. संतान पक्ष से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति कार्यक्षेत्र में कार्य की अधिकता …अधीरता कष्टकारी हो सकती है…अतः सूर्य कृत दोषों की निवृत्ति के लिए -प्रातः स्नान के उपरांत सूर्य को जल में लाल पुष्प तथा शक्कर मिलाकर…. अध्र्य देते हुए….. ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का पाठ करें….. गुड़.. गेहू…का दान करें..आदित्य ह्दय स्त्रोत का पाठ करें…

वृश्चिक राशि -वृश्चिक राशि वालें सभी जातकों के….बेवजह की जिद आपके लिए परेषानी का सबब…शनि की दृष्टि दसमेष और दषम में होने से मानसिक अषांति और असुरक्षा की भावना…कार्यक्षेत्र में विवाद हैं…
शांति के लिए चंद्रमा के निम्न उपाय करें -ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…हनुमानजी की उपासना करें..मसूर की दाल, गुड दान करें ..

धनु राशि -धनु राशि वाले सभी जातकों के…मानसिक अस्थिरता…लगातार सर दर्द से परेषानी…
नये लोगों से मुलाकात संभव….वृद्धि एवं कष्टों की निवृत्ति के लिए -ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें…पीली वस्तुओं का दान करें…गुरूजनों का आर्शीवाद लें..

मकर राशि -मकर राशि वाले सभी जातकों के…. सभी का सहयोग मिलेगा….बेवहज का अहंकार ना रखें..
स्वास्थ्य में ब्लड प्रेषर की परेषानी…पूरे दिन उत्साह कायम रखने तथा तंदुरूस्त रहने के लिए निम्न उपाय आजमायें -सूर्य के मंत्रों का जाप…सूर्य को जल देकर दिन की शुरूआत करें… गेहू का दान करें…

कुंभ राशि -कुंभ राशि वाले जातकों के…आज शौक पर धन पर खर्च.. गुस्सा तेजी से आयेगा, नियंत्रण की जरूरत….माता के स्वास्थ्य संबंधी तनाव…उपाय -भगवान दत्तात्रेय का जाप करें….तिल का तेल चढायें….

मीन राशि -मीनराशि वालों कुछ जातकों के…नवीन वस्त्र की प्राप्ति…आज भाईयों एवं सहयोगियों से विवाद…आकस्मिक धन हानि की संभावना…बचने के लिए शांति के लिए – ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…महामाया के दर्शन करें…चावल, दूध, दही का दान करें…

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!