धर्म कथाएंपर्व और त्यौहारव्रत त्योहारसमाचारहिन्दू धर्म कथाएं

लंबे समय बाद श्रावण मास के अंतिम सोमवार को रक्षाबंधन आया है

ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय शर्मा raksha bandhan on sawan last somvar 2020

9893129882 , 9424828545 (Paytm , PhonePe)  ज्योतिष लेखक, ज्योतिष एवं वास्तु परामर्ष , रत्न विशेषज्ञ , प्रेरक (मोटीवेटर)  कलर थेरेपिस्ट एवं औरा रीडर 11, न्यू एम.आई.जी. मुखर्जी नगर  एम.आर. 8, टेलीफोन ऑफिस के सामने देवास म.प्र. 455001 raksha bandhan on sawan last somvar 2020

लंबे समय बाद इस बार रक्षा बंधन के दिन बन रहा विशेष संयोग। इस वर्ष श्रावण के आखिरी सोमवार पर श्रावण पूर्णिमा व श्रवण नक्षत्र का महासंयोग बन रहा है। यह उत्तम संयोग है। रक्षा बंधन पर बन रहे ये संयोग बहुत ही लाभदायक होंगे। हर वर्ष श्रावण मास के शुक्ल पक्ष पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 03 अगस्त, सोमवार को है। रक्षाबंधन का त्योहार  बहन और भाई के आपसी प्रेम और स्नेह का त्योहार है। इस पर्व में बहनें अपने भाईयों की कलाई में राखी बांधती है। रक्षाबंधन के दिन राखी बांधने के समय भद्राकाल और राहुकाल का विशेष ध्यान दिया जाता है। शास्त्रों के अनुसार भद्राकाल में राखी बांधना शुभ नहीं होता है। इसलिए रक्षाबंधन के दिन भद्राकाल में विशेष ध्यान दिया जाता है। मान्यता है कि भद्राकाल में किसी भी तरह के शुभ कार्य करने पर उसमें सफलता नहीं मिलती है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भद्रा में राखी न बंधवाने के पीछे एक कथा प्रचलित है। जिसके अनुसार लंका के राजा रावण ने अपनी बहन से भद्रा के समय ही राखी बंधवाई थी। भद्राकाल में राखी बाधने के कारण ही रावण का सर्वनाश हुआ था। इसी मान्यता के आधार पर जब भी भद्रा लगी रहती है उस समय बहनें अपने भाइयों की कलाई में राखी नहीं बांधती है। इसके अलावा भद्राकाल में भगवान शिव तांडव नृत्य करते हैं इस कारण से भी भद्रा में शुभ कार्य नहीं किया जाता है।
राहुकाल में भी किसी तरह का शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इसलिए भद्रा के साथ राहुकाल का विशेष ध्यान रखना चाहिए। 3 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन राहुकाल का समय सुबह 7 बजकर 30 मिनट से 9 बजे तक रहेगा।  raksha bandhan on sawan last somvar 2020
राखी बांधने का मुहूर्त
09ः30 मिनट से 21ः11 मिनट तक
अवधि : 11 घंटे 43 मिनट
ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय शर्मा
9893129882 , 9424828545 (Paytm , PhonePe)
ज्योतिष लेखक, ज्योतिष एवं वास्तु परामर्ष , रत्न विशेषज्ञ , प्रेरक (मोटीवेटर)
कलर थेरेपिस्ट एवं औरा रीडर

11, न्यू एम.आई.जी. मुखर्जी नगर
एम.आर. 8, टेलीफोन ऑफिस के सामने
देवास म.प्र. 455001

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies

error: Content is protected !!