राशिफल

शनि के पुनः मकर राशि में प्रवेश से 12 राशियों पर होने वाले प्रभाव, पंडित कपिल शर्मा (काशी) से जानें

परम न्यायाधीश श्री शनिदेव 12 जुलाई 2022 को पुनः मकर राशि में प्रवेश करेंगे ।शनि महाराज 29 अप्रैल 2022 से वक्र गति से मकर की तरफ बढ़ रहे थे, कर्क एवं वृश्चिक राशि वालों को 17 जनवरी 2023 तक ढैया से मिलेगी मुक्ति

⬅️शनि चले उल्टी चाल 12 जुलाई को करेंगे अपनी राशि मकर में प्रवेश⬅️
परम न्यायाधीश श्री शनिदेव 12 जुलाई 2022 को पुनः मकर राशि में प्रवेश करेंगे ।शनि महाराज 29 अप्रैल 2022 से वक्र गति से मकर की तरफ बढ़ रहे थे, कर्क एवं वृश्चिक राशि वालों को 17 जनवरी 2023 तक ढैया से मिलेगी मुक्ति।
मिथुन एवं तुला राशि वालों को 17 जनवरी 2023 तक मिलेगा ढेये का शुभाशुभ परिणाम।
धनु, मकर एवं कुंभ शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव में रहेंगे।

मीन राशि वाले शनि की साढ़ेसाती के प्रथम चरण के प्रभाव से जनवरी तक मुक्त रहेंगे।
शनि के मकर राशि प्रवेश से वैश्विक राजनीति में और देश की राजनीति में बहुत उथल-पुथल का समय रहेगा।
प्राकृतिक आपदाएं एवं घटना दुर्घटनाओं का भी भय बना रहेगा एवम घटनाएं होगी भी।
🔴12 राशियों पर मकर राशि स्थित शनि के अलग-अलग प्रभाव होंगे🔴
⚜️मकर राशि में शनि का 12 राशियों पर गोचर फल⚜️
🌐मेष राशि➡️ नौकरी अथवा व्यवसाय में परिवर्तन, चल-अचल संपत्ति प्राप्ति,कोर्ट में विजय,पद-प्रतिष्ठा,पति/पत्नी में मतभेद, वाद-विवाद, लाभकारी यात्राएं ,गुप्त शत्रु उत्पन्न।
🌐वृषभ राशि➡️ तीर्थ यात्रा,संत- समागम,व्यवसायिक नौकरी में उन्नति,संतति सुख,भ्रातृपीड़ा ,भय, प्रवास योग,शत्रु वृद्धि ,राजकीय कार्यों में विघ्न बाधा, पति/पत्नी का स्वास्थ्य अस्वस्थ।
🌐मिथुन राशि➡️ मानसिक पीड़ा,अकारण भय,शत्रुओं में वृद्धि,स्वास्थ्य में खराबी, संघर्ष के साथ सफलताl
🌐कर्क राशि➡️ नौकरी,व्यवसाय में सफलता,धार्मिक यात्राएं,रुका हुआ धन प्राप्ति के योग, स्वयं अथवा पत्नी को शारीरिक पीड़ा, भागीदारी में हानि, विवाह-योग,कोर्ट में अनुकूलता विद्यार्थियों के लिए श्रेष्ठ।
🌐सिंह राशि ➡️शत्रुओं पर विजय,कार्यों में सफलता, संपत्ति प्राप्ति योग,मित्रों से सहयोग,कर्ज मुक्ति,आरोग्यता ,अपव्यय, स्थानांतरण, व्यवसाय में वैमनस्यता, द्रव्य लाभ, सौख्यता में वृद्धि।
🌐कन्या राशि➡️ संतति सुख, अधिकारों में वृद्धि, कार्यों में सफलता, तीर्थ यात्रा ,विद्यार्थियों को अपने लक्ष्य में सफलता, बुद्धि में चंचलता, मित्रों से लाभ ,नौकरी व्यवसाय में प्रयास से सफलता ,सट्टा – शेयर्स में हानि।
🌐तुला राशि➡️ व्यापार में नुकसान,निराशा,मानसिक तनाव ,प्रतिष्ठा में कमी, परिवार में क्लेश।
🌐वृश्चिक राशि➡️ पद प्रतिष्ठा में वृद्धि, भाइयों से लाभ, नौकरी व्यवसाय में उत्कर्ष ,धनलाभ, शत्रु नाश, भूमि लाभ, बहिन के लिए अशुभ प्रद, आलस्यता में वृद्धि, अनैच्छिक स्थानांतरण।
🌐धनु राशि➡️ मानसिक पीड़ा, कष्ट, शत्रुओं में वृद्धि, व्यर्थ यात्राएं, स्वास्थ्य में गिरावट, संघर्ष के साथ सफलता।
🌐मकर राशि ➡️आर्थिक लाभ,आदमी जन से बिछोह, भय, अकारण तनाव,मौसमी बीमारियों का खतरा।
🌐कुंभ राशि➡️ अधिक खर्च,मानसिक तनाव, व्यर्थ चिंता,वाहन दुर्घटना का भय, आर्थिक उन्नति।
🌐मीन राशि➡️ नौकरी धंधे में आशातीत लाभ, पद प्रतिष्ठा में वृद्धि,धन प्राप्ति, सुख संपत्ति में वृद्धि, आरोग्यता, कदाचित मित्रों से विश्वासघात, कभी-कभी संतति सुख विषय चिंता।
उपरोक्त सभी राशियों का फल कथन मकर में स्थित शनि के सामान्य प्रभाव के आधार पर है।जन्मपत्रिका में शनि की शुभ या अशुभ स्थिति जैसी भी हो ,उसी आधार पर सटीक फल माने जाते हैं।
💠💠शनि के अशुभ प्रभावों से बचने के उपाय💠💠
अहंकार ना करें, अपनी वाणी को संयमित एवं नियंत्रित रखें,क्रोध ना करें ,अपने इष्ट मंत्र- गुरु मंत्र का अधिक से अधिक जाप करें। हनुमान जी की पूजा करें व रामचरितमानस का मास पारायण करें ।सुंदरकांड,हनुमान चालीसा,संकट मोचन हनुमान अष्टक का अधिक से अधिक पाठ करें।किसी विद्वान ब्राह्मण द्वारा गाय के दूध से भगवान शिव जी का दुग्ध अभिषेक करवाएं। किसी विद्वान ब्राम्हण से पंचमुखी हनुमत कवच,राम रक्षा स्तोत्र के पाठ करवाएं ।हनुमान जी के मंदिर में रोज तेल का दीपक लगाएं। काली गाय की सेवा करें।काली गाय ना भी मिले
,तो भी गोसेवा अधिक से अधिक करें।सड़क पर घूमने वाले आवारा श्वानों को रोटी पर तेल लगाकर खिलाए।अपने माता-पिता और गुरुजनों का चरण छूकर आशीर्वाद ले। व उनका सम्मान करें, एवं कोई भी गलत काम,अनैतिक काम, झूठ- छल- कपट-चालाकी करने के पहले एक बार सोच ले, न्याय के देवता शनि सब देख रहे हैं।
किसी की बेबसी, मजबूरी का मजाक ना बनाएं, आज उसकी तो कल आप की भी बारी आ सकती है। कलयुग के राजा ,न्यायधीश शनि महाराज की जय ।
पंडित कपिल शर्मा (काशी)

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े Join Now

Related Articles

Back to top button