सूर्य के कर्क राशि में आने से होगी अप्रत्याशित घटनाएं, सूर्य के कर्क राशि में आने से होगी हैरतअंगेज घटनाएं

Sun Transit In Cancer 16 जुलाई को सूर्य जब कर्क राशि में प्रवेश करेंगे उस समय कृष्ण चतुर्दशी होने तथा तुला राशि में चल रहे केतु पर शनि और मंगल की अशुभ दृष्टि के कारण भारत में कुछ बड़े सामाजिक और आर्थिक परिवर्तन देखने को मिलेंगे।

Sun Transit In Cancer 2022 भगवान सूर्य 16 जुलाई की रात्रि 10:56 मिनट पर मिथुन राशि की यात्रा समाप्त करके दक्षिणायन की पहली राशि कर्क में प्रवेश कर रहे हैं। इस राशि पर ये 17 अगस्त की सुबह 7:22 मिनट तक गोचर करेंगे उसके बाद अपनी स्वयं की राशि सिंह में प्रवेश करेंगे। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि सूर्य का कर्क राशि में आना राशियों के साथ ही साथ देश दुनिया की राजनीति, अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित करेगा। गौरतलब बात यह है कि सूर्य का यह परिवर्तन ऐसे समय में हो रहा है जबकि इन दिन मेष राशि में बना मंगल राहु का अंगारक योग अपना असर दिख रहा है। 27 जून को मंगल मेष राशि में आकर राहु से मिले थे इसके बाद से एक के बाद हैरतंगेज घटनाएं हो रही हैं। इंग्लैंड के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का सत्ता से पतन, जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो अबे की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या और श्रीलंका में राजपक्षे सरकार को अभूतपूर्व जनांदोलन के कारण सत्ता से बाहर होना पड़ा। इन घटनाओं ने अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में उथल-पुथल मचा दी है। 

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि 16 जुलाई को सूर्य जब कर्क राशि में प्रवेश करेंगे उस समय कृष्ण चतुर्दशी होने तथा तुला राशि में चल रहे केतु पर शनि और मंगल की अशुभ दृष्टि के कारण भारत में कुछ बड़े सामाजिक और आर्थिक परिवर्तन देखने को मिलेंगे। इस महत्वपूर्ण कर्क संक्रांति के कुछ दिन बाद 29 जुलाई को अमावस्या के दिन मंगल और राहु मेष राशि में नज़दीकी अंशों में आकर देश में सांप्रदायिक तनाव, हिंसक घटनाओं, प्राकृतिक आपदाओं से बड़ी जन-धन की हानि करवा सकते हैं, ऐसी आशंका दिखती है। मेष राशि से प्रभावित इंग्लैंड और जापान में बड़े राजनीतिक घटनाक्रम नए नेतृत्व के उदय का कारण बनेगे। इसके साथ ही भारत के पडोसी मुल्क पाकिस्तान में कोई बड़ी राजनीतिक हिंसा की घटना भी घटित हो सकती है, इस बात की भी आशंका दिख रही है।

अत्यधिक वर्षा योग Sun Transit In Cancer 2022

सूर्य के कर्क राशि में प्रवेश के समय बनने वाली कुंडली मीन लग्न की है जो कि एक जल तत्व की राशि है जिसमें शुभ ग्रह गुरु के होने से आगामी 30 दिनों में भारत के बड़े भूभाग में अत्यधिक वर्षा और बाढ़ आने का योग बन रहा है। कर्क राशि में आ रहे सूर्य पर मकर राशि, जो एक जलीय राशि है, से सप्तम भाव में चल रहे वक्री शनि की दृष्टि तथा मीन राशि में चल रहे गुरु की पांचवी दृष्टि के होने से भारत और पाकिस्तान में 17 जुलाई के बाद बाढ़ से कई हिस्सों में जन-धन की बड़ी क्षति होने की आशंका है। 29 जुलाई की अमावस्या के दिन कर्क राशि में बुध, सूर्य, चंद्रमा की युति पर शनि, गुरु और मंगल की दृष्टि जबरदस्त वर्षा, भूस्खलन और बादल फटने की घटनाओं के कारण अगले 15 दिनों में जन-धन की हानि के योग बना रहे हैं। पंजाब, हिमाचल, उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश में विशेष रूप से 17 जुलाई से 15 अगस्त के बीच सामान्य से अधिक वर्षा के योग बना रहे हैं।

आ सकते हैं नए कानून Sun Transit In Cancer 2022

वर्ष 2019 में नरेंद्र मोदी सरकार ने दुबारा चुने जाने के बाद 5 अगस्त को मानसून सत्र के दौरान धारा 370 को हटाने तथा जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने का बिल संसद में रखा था। उसके अगले वर्ष 5 अगस्त 2020 को राम मंदिर की शिलान्यास का ऐतिहासिक कार्य संपन्न किया था। इस वर्ष भी ग्रह-स्थिति मानसून सत्र के समय किसी ऐतिहासिक संसदीय क़ानून के आने का संकेत दे रही है। यह घटना तब हो सकती है जब गोचर में मेष राशि में मंगल-राहु की नज़दीकी अंशों में युति हो रही होगी और कर्क राशि में चल रहे सूर्य पर तीन बड़े ग्रहों गुरु, शनि तथा मंगल की दृष्टि पड़ रही होगी। कर्क संक्रांति कुंडली में भी सप्तम भाव पर पड़ रही गुरु की दृष्टि तथा संसदीय कानूनों के एकादश भाव में शनि के होने से विवाह, उत्तराधिकार, संपत्ति तथा आर्थिक मामलों में नए कानून जैसे समान नागरिक संहिता तथा आर्थिक सुधारों की नयी नीति संबंधी बिल सदन में पेश किये जा सकते हैं।

उपाय

कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि कि भगवान श्री विष्णु की उपासना करें। बंदर, पहाड़ी गाय या कपिला गाय को भोजन कराएं। रोज उगते सूर्य को अर्घ्य देना शुरू करें। रविवार के दिन उपवास रखे। रोज गुढ़ या मिश्री खाकर पानी पीकर ही घर से निकलें। जन्मदाता पिता का सम्मान करें, प्रतिदिन उनके चरण छुकर आशीर्वाद लें । भगवान सूर्य की स्तुति आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें ।

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास से जानते हैं सूर्य के कर्क राशि में जाने पर सभी राशियों पर क्या होगा प्रभाव।

मेष राशि

सूर्य का प्रभाव कई तरह के अप्रत्याशित फल प्रदान करेगा। कहीं न कहीं पारिवारिक कलह तथा मानसिक अशांति का सामना भी करना पड़ सकता है। मित्रों तथा संबंधियों से अप्रिय समाचार प्राप्ति के योग।

वृषभ राशि

सूर्य का प्रभाव आपके लिए वरदान की तरह है। साहस और पराक्रम की वृद्धि तो होगी ही लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों में सराहना भी होगी। सामाजिक पद-प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी।

मिथुन राशि

सूर्य मिला-जुला फल प्रदान करेंगे। स्वास्थ्य विशेषकर के नेत्र संबंधी विकार से सावधान रहना होगा। अपनी जिद एवं आवेश पर नियंत्रण रखें। झगडे़ विवादों से दूर रहें और कोर्ट कचहरी से संबंधित मामले भी बाहर ही सुलझाएं।

कर्क राशि

सूर्य का प्रभाव बेहतरीन फल प्रदान करेगा यद्यपि,स्वास्थ्य की दृष्टि से कहीं न कहीं शारीरिक पीड़ा का सामना करना पड़ सकता है। शरीर में विटामिंस की कमी न होने दें। शासन सत्ता का पूर्ण सहयोग मिलेगा।

सिंह राशि

सूर्य का प्रभाव बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता। अत्यधिक भागदौड़ का सामना करना पड़ेगा जिसके फलस्वरूप आर्थिक तंगी का सामना भी करना पड़ सकता है।

कन्या राशि

राशि से एकादश लाभ भाव में गोचर करते हुए सूर्य का प्रभाव बेहतरीन सफलता दिलाएगा। आय के साधन बढ़ेंगे। लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों की सराहना तो होगी। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी।

तुला राशि

सूर्य बेहतरीन सफलता दिलाएंगे। सोची समझी सभी रणनीतियां कारगर सिद्ध होंगी। चुनाव से संबंधित किसी भी क्षेत्र में अपनी किस्मत आजमाना चाहें तो उसे दृष्टि से भी ग्रह गोचर अनुकूल रहेगा।

वृश्चिक राशि

सूर्य का प्रभाव कई मायनों में अच्छी सफलता दिलाएगा। भाग्य वृद्धि तो होगी ही धर्म और अध्यात्म में भी रूचि बढ़ेगी। किसी नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना चाह रहे हों तो ग्रह गोचर अनुकूल है।

धनु राशि

सूर्य का प्रभाव अप्रत्याशित रहेगा। जमीन-जायदाद अथवा पैतृक संपत्ति से संबंधित मामले हल होंगे। मान सम्मान तथा पद-प्रतिष्ठा की वृद्धि तो होगी किंतु स्वास्थ्य के प्रति विपरीत प्रभाव पड़ेगा।

मकर राशि

सूर्य वैवाहिक मामलों में अड़चनें पैदा कर सकते हैं। ससुराल पक्ष से भी मतभेद बढ़ने न दें। कार्य व्यापार की दृष्टि से ग्रह-गोचर उत्तम रहेगा। झगड़े विवाद तथा कोर्ट कचहरी से संबंधित मामलों में भी निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत।

कुंभ राशि

सूर्य का प्रभाव आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है किंतु कुछ मामलों में सावधानी बरतें। कार्य व्यापार में उन्नति तो होगी ही लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों की सराहना भी होगी।

मीन राशि

सूर्य कई तरह के अप्रत्याशित परिणाम दिलाएंगे। आध्यात्मिक उन्नति तो होगी ही समाज में मान-सम्मान भी बढ़ेगा। आय के साधन बढ़ेंगे और काफी दिनों का दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद।

Exit mobile version