श्रीमद् भागवत में गौसेवक संत कमलकिशोर नागर जी ने कहा, ‘नारी में स्वर्ण आभूषण से नहीं शरम से मर्यादा है’

कोटा, 28 नवबर। गौसेवक संत कमलकिशोर ‘नागरजी’ ने कहा कि ईश्वर ने हमें अनमोल कंचन काया बिनमोल दी है, फिर भी हमारा भरोसा उससे टूट रहा है। कोई कार्य नहीं होने पर हम कहते हैं […]