गाय की जगह कुत्ते पाल रहे हैं, कैसे उद्धार होगा? दिव्य संत पं.कमलकिशोरजी नागर ने कथा में कहा

सुुुनेल/कोटा। सरस्वती के वरदपुत्र संत पं.कमलकिशोरजी नागर ने मंगलवार को विराट श्रीमद्् भागवत कथा के समापन में कहा कि जिनका हृदय बड़ा रहता है, वहीं परमात्मा रहता है। भक्ति का रंग जिन पर चढ़ता है, […]

संत पं. कमल किशोर नागर जी श्रीमद् भागवत कथा में बोले: काया, माया व छाया कभी साथ नहीं देती

सुुुनेल। पाटन बायपास मार्ग पर चल रही विराट श्रीमद् भागवत कथा में सोमवार को सरस्वती के वरदपुत्र संत पं.कमलकिशोरजी नागर ने ओजस्वी प्रवचनों में कहा कि काया, माया, छाया, जाया, कमाया और परनाया ये पांच […]

जिस घर में मेहमान का स्वागत हो, वहां भगवान आते हैं : संत पं. कमलकिशोर नागर की श्रीमद् भागवत कथा

सुनेल। दिव्य गौसेवक संत पूज्य पं.कमलकिशोरजी नागर ने कहा कि परिवार में भले ही भाईयों में अलग-अलग रोटी बनती हो लेकिन जब भी कोई मेहमान आए तो एक हो जाओ। कोशिश करो कि घर का […]

श्रीमद् भागवत कथा में दिव्य संत पं.कमलकिशोर नागर जी बोले, बड़ा आदमी बनने पर छूट जाती है रोटी और हंसी

सुुनेल। दिव्य गौसेवक संत पूज्य पं. कमलकिशोर नागर ने कहा कि जितना बडा बनने की होड़ करोगे, उतनी ही रोटी और हंसी कम होती चली जाएगी। सुखों को हमने नहीं भोगा, सुखो ने हमको भोगा […]

श्रीमद् भागवत कथा में गौसेवक संत पं.कमलकिशोर ‘नागरजी’ ने कहा, ‘ब्रह्मा’ दूध है और ‘माया’ चाय की तरह

सुनेल 29 नवबर। गौसेवक संत कमलकिशोर ‘नागरजी’ ने कहा कि पुत्र पिता जैसा हो, शिष्य गुरू जैसा हो और भक्त भगवान जैसा हो जाए जो सारी बुराइयां अच्छाई मे बदल सकती हैं। लेकिन सनातन धर्म […]