ज्योतिषधर्म कथाएंहिन्दू धर्म कथाएं

5 जून को लगेगा उपच्छाया चंद्रग्रहण, 3 घंटे 18 मिनट तक रहेगा इसका असर

grahan kaise hota hai in hindi, chandra grahan kab hota hai,

क्या है उपछाया चंद्रग्रहण ?

एक पेनुमब्रल चंद्र गहण तब होता है, जब चंद्रमा फेंट के पास से गुज़रता है, पृथ्वी की छाया का बाहरी भाग, जिसे पेनुम्ब्रा कहा जाता है। इस दौरान, चंद्रमा सामान्य से थोड़ा गहरा (डार्क) दिखाई देता है और इस प्रकार के ग्रहण को अक्सर लोगों द्वारा सामान्य पूर्णिमा (Full Moon) मान लिया जाता है।पर यह उपच्छाया चंद्रग्रहण है इसे ऐसा भी समझा जा सकता है कि जब भी उपच्छाया चंद्रग्रहण लगता है तो उससे पहले चंद्रमा पृथ्वी की उपछाया में प्रवेश करता है. चंद्रग्रहण की प्रकिया में इसे penumbra कहा जाता है. उपछाया में पूर्ण चंद्र ग्रहण नहीं पड़ता इसमें चंद्रमा सिर्फ धुंधला सा दिखाई पड़ता है इस कारण से इसे चंद्र मालिन्य भी कहते हैं.

चंद्रग्रहण का प्रभाव आषाढ़ मास में ग्रहण होने से खण्ड वर्षा होगी नदियों, तालाबों में जल का प्रवाह कम होगा। कई क्षेत्रों में बाढ़ तो कई क्षेत्रों में सूखे की स्थिति रहेगी। अफगानिस्तान, कश्मीर, चीन में राजनीतिक उथल-पुथल की स्थिति पैदा होगी। प्राकृतिक आपदा से जन-धन की हानि हो सकती है। यह ग्रहण धनु और मकर राशि में घटित होने से पंजाब में राजनीतिक उठापटक होगी। व्यापारियों, चिकित्सकों, राजनेताओं एवं दक्षिण राज्य के लोगों को पीड़ा हो सकती है। राशि अनुसार यह ग्रहण धनु और मकर राशि वालों के लिए अधिक कष्टकारी रहेगी। इन्हें राहु गुरु, शनि का जप, दान करना चाहिए।

सूतक काल क्या होता है ?क्या उपच्छाया चंद्रग्रहण में सूतक मान्य है ?

यथा अंडे तथा पिंडे ,यानि अंड और पिंड एक जैसे होते हैं मनुष्य का शरीर यानि पिंड भी ब्रम्हांड के गुणों से संपन्न होता है ऐसे में जब ब्रम्हाण्ड में सूर्य या चंद्र ग्रहण होता है उस समय हमारे अंदर भी उसी तरह का ग्रहण प्रभाव होता है ऐसी सनातन की धारणा है ऐसे में ग्रहण के पूर्व सूतक लगता है सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पूर्व ,चंद्र ग्रहण से 09 घंटे पूर्व सूतक प्रारम्भ होता है,ऐसे समय में प्रकृति ज्यादा संवेदनशील होती है , ऐसे में किसी अनहोनी के होने की संभावना होती है, सूतक में सावधान रहना चाहिए और ईश्वर का ध्यान करना चाहिए. सूतक काल में हमें कुछ खास बातों का ध्यान रखाना चाहिए. सूतक काल में किसी भी तरह का कोई शुभ काम नहीं किया जाता. यहां तक की कई मंदिरों के कपाट भी सूतक के दौरान बंद कर दिये जाते हैं.मगर सूतक होने के लिए ग्रहण का दृध्य होना जरुरी है यानि यदि ग्रहण दृष्ट नहीं हो तो सूतक नहीं लगता। चूँकि यह भारत में दिखाई नहीं देगा और इसलिए इसका सूतक भी मान्य नहीं होगा.

आज का पंचाग… दिनांक 04.06.2020… शुभ संवत 2077 शक 1942… सूर्य उत्तरायण का…ज्येष्ठा मास शुक्ल पक्ष त्रयोदशी तिथि … दिन को 06 बजकर 07 मिनट तक .उपरांत चतुर्दशी तिथि क्षय.. दिन … गुरूवार … विशाखा नक्षत्र … रात्रि को 06 बजकर 37 मिनट तक … आज चंद्रमा … तुला राशि में … आज का राहुकाल दोपहर को 01 बजकर 42 मिनट से 03 बजकर 22 मिनट तक होगा …

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल

मेष राशि-आज दिन तनाव भरा होगा किंतु कोई हानि नहीं…अपने व्यवहार पर नियंत्रण बस रखें…घरेलू खर्च में वृद्धि….
गुरू के उपाय-1.ऊॅ बृं बृहस्पतयै नमः का एक माला जाप करें….2.पुरोहित को केला, नारियल का दान करें…. वृषभ राशि-किसी कार्य को लेकर बास से मतभेद….अपने भविष्य को लेकर चिंता….परिवार से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा…शुक्र के उपाय-1.ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…2.चावल, दूध, दही का दान करें…

मिथुन राशि-नींद देर से खुलने के कारण विलंब…. सारा दिन सुस्ती में जायेगा…काम में मन नहीं लगेगा…शनि के उपाय -1.‘‘ऊॅ शं शनैश्चराय नमः’’ की एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें.2.भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें,3.उड़द या तिल दान करें, कर्क राशि -टूर की तैयारी करने में आज का दिन देंगे…..उमंग तथा उत्साह रहेगा…स्वास्थ्यगत ख्याल रखना होगा… बुध के उपाय-1.ऊॅ बुं बुधाय नमः का एक माला जाप कर गणपति की आराधना करें… 2.दूबी गणपति में चढ़ाकर मनन करें, 3.एक मुठ्ठी मूंग का दान करें।

सिंह राशि-राजनैतिक सर्पोट से लाभ की प्राप्ति…मनोरंजन में दिन बितायेंगे…विवादों से बचें….राहु के उपाय -1.ऊॅ रां राहवे नमः का एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें..2.मूली का दान करें..3.सूक्ष्म जीवों को आहार दें.. कन्या राशि-आज का दिन सामान्य तौर पर अच्छा बितेगा…व्यवसायिक उन्नति हेतु प्रयास करें….वाहन संभलकर उपयोग करें, वाहन से कष्ट…. केतु के उपाय-1.ऊॅ कें केतवें नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें…2.सूक्ष्म जीवों की सेवा करें… 3.गाय या कुत्ते को आहार दें…

तुला राशि-किसी दोस्त को सहयोग देंगे….रिष्तों में नजदीकी बढ़ेगी…उच्च शिक्षा में मनचाहा परिणाम से प्रसन्नता….सूर्य के उपाय -1.प्रातः स्नान के उपरांत सूर्य को जल में लाल पुष्प तथा शक्कर मिलाकर…. अध्र्य देते हुए….. ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का पाठ करें…..2.गुड़.. गेहू…का दान करें..3.आदित्य ह्दय स्त्रोत का पाठ करें… वृश्चिक राशि-संतान पक्ष की ओर से परेषान हो सकते हैं….पूरा परिवार उलझा हुआ होगा..चंद्रमा के निम्न उपाय करें-1.उॅ नमः शिवाय का जाप करें…2.दूध, चावल का दान करें…3.श्री सूक्त का पाठ करें धूप तथा दीप जलायें…

धनु राशि-छोटी यात्रा संभव…बड़ो से सहयोग तथा पिता का साथ मिलेगा….कोई व्यक्ति धोखा दे सकता है भरोसे से बचें… सूर्य के उपाय-1.ऊॅ सों सोमाय नमः का एक माला जाप करें……2.खीर बनाकर कम से कम एक कन्या को खिलायें….3.स्वेत वस्त्र धारण करें…… मकर राशि-वाहन की मरम्मत करना पड़ सकता है….अधीनस्थो के कार्य ना करने से तनाव….ज्यादा गुस्सा आयेगा…मंगल के उपाय-1.ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…2.हनुमानजी की उपासना करें..3.मसूर की दाल, गुड दान करें..

कुंभ राशि-जीवनषैली में बदलाव संभव…घरेलू खर्च ज्यादा होगा….खानपान समय पर नहीं होना शारीरिक कष्ट दे सकता है….गुरू के उपाय -1.ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें… 2.पीली वस्तुओं का दान करें…3.गुरूजनों का आर्शीवाद लें.. मीन राशि-सहयोगियों से फाईल को लेकर विवाद करेंगे…मनमुटाव की संभावना…अपना रूटिन ठीक रखें…शुक्र के उपाय – 1.ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें… 2.चावल, दूध, दही का दान करें…

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Technically Supported By : Infowt Information Web Technologies