धार्मिक स्थलसमाचार

श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर उद्धव ठाकरे की मांग, जानिए क्या बोल दिया पीएम मोदी को लेकर

उद्धव ठाकरे ने पिता बाला साहेब ठाकरे को याद किया और कहा कि मेरे पिता का भी सपना था कि राम मंदिर बने, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा राष्ट्रपति के हाथों करवाई जाना चाहिए प्राण प्रतिष्ठा

एक तरफ अयोध्या राम मंदिर में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोरों पर है और दूसरी तरफ देश भर में अलग-अलग नेताओं के बयानों के कारण राजनीति गरमा रही है। uddhav thackeray on ram mandir ayodhya ram mandir inauguration date राजनीति में धर्म का उपयोग किया जाना और धर्म में राजनीति करना दोनों ही आम हो चुका है। बयानबाजी के दौर में महाराष्ट्र के कद्दावर नेता उद्धव ठाकरे का बयान आया है, जिसमें उन्होंने राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा करवाई जाने की मांग की है। उन्होंने इसके पीछे यह हवाला दिया है कि यह ‘ राष्ट्र के गौरव और देश के स्वाभिमान” का मामला है।
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने पिता को याद करते हुए इस बारे में कई तरह की बात की। मुंबई में उन्होंने इस मामले पर अपने मन की बात रखते हुए कहा कि राम मंदिर का निर्माण मेरे पिता का भी सपना था। अब यह सपना साकार हो रहा है जो बेहद खुशी का क्षण है।

उद्धव ने कहा कि राष्ट्रपति मुर्मू को नासिक स्थित कालाराम मंदिर में भी आमंत्रित करेंगे। अयोध्या में जिस दिन यानी 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह होगा, वे कालाराम मंदिर में दर्शन करने जाएंगे। साथ ही 22 जनवरी को ही गोदावरी नदी के तट पर आरती भी की जाएगी।uddhav thackeray on ram mandir ayodhya ram mandir inauguration date ठाकरे के इस बयान और प्राण प्रतिष्ठा की मांग को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। कालाराम मंदिर में दर्शन करने और गोदावरी नदी के तट पर आरती करने को लेकर भी अलग-अलग मायने निकाले जा रहे हैं।

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े Join Now

shriram janambhoomi mandir ayodhya

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े Join Now

उद्धव के बयानों के बाद अधिकतर मामलों में राजनीतिक चर्चाएं शुरू हो जाती है। बीजेपी, कांग्रेस के साथ ही महाराष्ट्र की अंदरूनी राजनीति को लेकर उनकी बयानबाजी की खास प्रतिक्रिया देखने को मिलती है। आने वाले समय में उनकी इस मांग और पूजा, आरती वाली बातों का कितना असर होगा या किस तरह का असर होगा यह देखने वाली बात होगी।

Related Articles

Back to top button