वैवाहिक सुख और वैभव देने वाले शुक्र 23 मई को करेंगे राशि परिवर्तन, शुक्र 23 मई को करेंगे राशि परिवर्तन

शुक्र के शुभ होने पर मां लक्ष्मी की भी विशेष कृपा होती है। मां लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है। मां लक्ष्मी की कृपा से व्यक्ति का जीवन सुखमय हो जाता है और दुख-दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाते हैं।

Venus Transit In Aries 2022 Good Impact On These Five Zodiac Sign in hindi सभी 9 ग्रह निश्चित समय पर एक से दूसरी राशि में अपना स्थान बदलते रहते हैं। ग्रहों के राशि परिवर्तन का अलग-अलग प्रभाव राशियों के जातकों के जीवन पर पड़ता है। ज्योतिष में शुक्र को भौतिक सुख, विलासिता पूर्ण जीवन, रोमांस, ग्लैमर आदि का कारक ग्रह माना जाता है। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि 23 मई को रात 08.39 बजे शुक्र मीन राशि से निकल कर मेष राशि में प्रवेश करेंगे। शुक्र को रचनात्मकता और रोमांस का ग्रह माना जाता है।यह जातक के जीवन विलासिता की स्थिति लेकर आता है। यह जातक के जीवन में प्रेम संबंधों को प्रभावित करता है। शुक्र को विवाह के लिए प्रमुख ग्रहों में से एक माना जाता है। ज्योतिष में शुक्र का विशेष स्थान है। शुक्र देव के शुभ होने पर जातक का सुप्त भाग्य भी जाग जाता है। शुक्र के शुभ होने पर मां लक्ष्मी की भी विशेष कृपा होती है। मां लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है। मां लक्ष्मी की कृपा से व्यक्ति का जीवन सुखमय हो जाता है और दुख-दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाते हैं।

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि 23 मई को शुक्र के राशि परिवर्तन के साथ ही कुछ राशियों के अच्छे दिन शुरू हो जाएंगे। शुक्र ग्रह अपनी उच्च राशि मीन की यात्रा समाप्त करके 23 मई की रात्रि 8:39 मिनट पर मेष राशि में प्रवेश कर रहे हैं। इस राशि पर ये 18 जून की सुबह 8 :15 मिनट तक गोचर करेंगे उसके बाद अपनी स्वयं की राशि वृषभ में चले जाएंगे। शुक्र ऐश्वर्य,विलासिता और पूर्णतः भौतिकवादी वस्तुओं के कारक हैं। शुक्र को सभी ग्रहों में सबसे चमकदार ग्रह माना जाता है। चूंकि शुक्र एक शुभ ग्रह है इसलिए कुंडली में इसकी अच्छी स्थिति से जातकों को जीवन में कई सुख सुविधाएँ मिलती हैं लेकिन मुख्य रुप से प्रेम, भौतिक सुखों में इसकी मजबूती से वृद्धि होती है।

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इसके साथ ही वैवाहिक जीवन में भी शुक्र की स्थिति का असर पड़ता है, यदि कुंडली में शुक्र अच्छी स्थिति में है तो दांपत्य जीवन सुखद रहता है। वहीं शुक्र की दुर्बल स्थिति व्यक्ति के वैवाहिक जीवन को खराब कर सकती है। शनि व बुध शुक्र के मित्र ग्रहों में आते है। शुक्र ग्रह के शत्रुओं में सूर्य व चन्द्रमा है। शुक्र के साथ गुरु व मंगल सम सम्बन्ध रखते हैं। वृषभ एवं तुला राशि के स्वामी शुक्र कन्या राशि में नीच राशिगत संज्ञक तथा मीन राशि में उच्चराशिगत संज्ञक कहे गए हैं।

प्रभाव Venus Transit

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि शुक्र के पास अमृत संजीवनी है और शुक्र पृथ्वी के साथ है। वस्तुओं की लागत बढ़ सकती है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी शुभ असर देखने को मिलेगा। ललित कलाओं की तरफ आप का रूझान हो सकता है। यदि आप मनोरंजन के क्षेत्र से जुड़े हैं तो आपको शुभ फल प्राप्त होगा। वहीं मीडिया आदि के क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों को भी यह शुक्र लाभ कराने वाला होगा। जॉब और बिजनेस से संबंधित परेशानियां दूर होंगी। जॉब बदलने का विचार मन में है तो यह समय आपके लिए उत्तम रहेगा। व्यवहार में सौम्यता लाएगा। शुक्र का गोचर मान सम्मान में वृद्धि और प्रमोशन का कारक भी बन सकता है। इस दौरान भटकाव की स्थिति से बचना होगा। Venus Transit In Aries 2022 Good Impact On These Five Zodiac Sign in hindi

शुक्र के उपाय Venus Transit

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि मां लक्ष्मी अथवा मां जगदम्बा की पूजा करें। भोजन का कुछ हिस्सा गाय, कौवे और कुत्ते को दें। शुक्रवार का व्रत रखें और उस दिन खटाई न खाएं। चमकदार सफेद एवं गुलाबी रंग का प्रयोग करें। श्री सूक्त का पाठ करें। शुक्रवार के दिन सफेद वस्त्र, दही, खीर, ज्वार, इत्र, रंग-बिरंगे कपड़े, चांदी, चावल इत्यादि वस्तुएं दान करें। Venus Transit

आइए विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास से जानते हैं कि शुक्र का मेष राशि में प्रवेश करने से राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।
मेष राशि- पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। सन्तान के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कारोबार में कठिनाइयां आ सकती हैं। मित्रों का सहयोग मिलेगा। वस्त्र उपहार में प्राप्त हो सकते हैं। संतान सुख में वृद्धि होगी। Venus Transit

वृष राशि- संयत रहें। मन में निराशा एवं असन्तोष हो सकता है। नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। पदोन्नति भी हो सकती है। सन्तान को स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं। आत्मविश्वास में कमी आएगी।

मिथुन राशि- मन परेशान रहेगा। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। परिवार का साथ मिलेगा। क्रोध के अतिरेक से बचें। किसी मित्र का आगमन हो सकता है।

कर्क राशि- क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा के भाव मन में हो सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं। परिवार के किसी सदस्य से धन मिल सकता है। धार्मिक संगीत के प्रति रुझान बढ़ेगा।

सिंह राशि- पठन-पाठन में रुचि रहेगी। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के विस्तार पर खर्च बढ़ सकते हैं। आय में वृद्धि होगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा।

कन्या राशि- नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। आय में वृद्धि होगी। वाहन की प्राप्ति भी हो सकती है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है।

तुला राशि- आत्मसंयत रहें। धैर्यशीलता बनाये रखने के प्रयास करें। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। किसी मित्र से धन की प्राप्ति हो सकती है। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। मीठे खानपान में रुचि बढ़ेगी।

वृश्चिक राशि- मन में निराशा एवं असन्तोष का भाव हो सकता है। घर-परिवार में धार्मिक कार्य हो सकते हैं। परिश्रम अधिक रहेगा। नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। आय में वृद्धि होगी।

धनु राशि- धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ सकती है। पारिवारिक जीवन कष्टमय हो सकता है। वाहन सुख में वृद्धि हो सकती है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे।

मकर राशि- क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा की मनःस्थिति हो सकती है। भवन सुख में वृद्धि हो सकती है। वस्त्रों आदि पर खर्च बढ़ सकते हैं। किसी मित्र के सहयोग से कारोबार के अवसर मिल सकते हैं।

कुंभ राशि- नौकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा एवं साक्षात्कारादि कार्यों में सफलता मिलेगी। शासन-सत्ता का सहयोग मिलेगा। यात्रा खर्च बढ़ सकते हैं। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। अध्ययन में रुचि रहेगी।

मीन राशि- मानसिक शान्ति रहेगी, परन्तु आत्मविश्वास में कमी रहेगी। घर-परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। परिवार का साथ मिलेगा। क्रोध एवं आवेश के अतिरेक से बचें। मीठे खानपान में रुचि हो सकती है।

Exit mobile version